झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

सादगी के साथ अदा की जाएगी ईद-उल-अजहा की नमाज, सरकार ने जारी की गाइडलाइन

कुणाल सारंगी

एदार- ए- सरिया ने कुर्बानी के पर्व बकरीद को लेकर अकीदतमंदों से सादगी के साथ त्‍योहार मनाने की अपील की है. कोरोना से सुरक्षा संबंधित राज्य सरकार की ओर से गाइडलाइन जारी की गई है. जिसके
तहत ईद उल अजहा की नमाज अदा की जाएगी.

रांची: एदार- ए- सरिया झारखंड के राज्य स्तरीय ऑनलाइन और ऑफलाइन बैठक ईद उल अजहा की नमाज और कुर्बानी को लेकर हुई. इस बैठक में शामिल राज्य स्तरीय तमाम जिम्मेदारों ने विचार विमर्श के बाद बकरीद को लेकर एक गाइडलाइन जारी की.
ईद उल अजहा की नमाज और कुर्बानी दो बड़ी इबादतें हैं, दोनों वाजिब हैं. वर्तमान परिस्थिति में कोरोना से सुरक्षा संबंधित राज्य सरकार की ओर से जारी की गई गाइडलाइन पर अमल करते हुए ईद उल अजहा की नमाज अदा की जाएगी.
जारी की गई गाइडलाइन
ईद उल अजहा की नमाज में कुरान की तिलावत, खुतबा और दुआ छोटी की जाएगी.
कुर्बानी के दिनों में भी एक दूसरे से हाथ मिलाने और गले मिलने से परहेज करने का निर्देश दिया गया है.
कुर्बानी के दिनों में गरीब जरूर जरूरतमंदों का ख्याल रखें.
कुर्बानी पर्दे के साथ करें और उसके वेस्टेज किसी सुरक्षित स्थान पर गड्ढा खोदकर दफन कर दें ताकि किसी को तकलीफ ना हो.
साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें, सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखें और मास्क लगाए रहें.
कुर्बानी के दिनों में विधि-व्यवस्था को सुनिश्चित करते हुए कठिनाइयों को दूर करें ताकि ईद उल अजा और कुर्बानी सभी लोग शांतिपूर्वक मना सकें.
बैठक में मौलाना सैयद शाह मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी सहित राज्य के हर जिले के नुमाइंदों ने भाग लिया. इस बैठक में विचार विमर्श के बाद एक गाइडलाइन जारी किया गया. इसके साथ ही देश और राज्य भर में बढ़ रहे कोरोना पॉजिटिव पर चिंता व्यक्त की.