झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

एक्स एल आर आई के पास आउट छात्र ने कलाकारों के लिए लॉन्च की वेबसाइट, मिलेगी अंतरराष्ट्रीय पहचान

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर के युवा उद्यमी अक्षय अग्रवाल ने देश के कलाकारों की मेहनत को ध्यान में रखते हुए एक वेबसाइट लॉन्च किया है. इस वेबसाइट के जरिए कलाकार अपनी रचना कहीं भी, कभी भी प्रदर्शित कर सकते हैं. वहीं, कलाकारों को इसकी मदद से रोजगार भी मिलेगा.

जमशेदपुर: कोविड-19 के संक्रमण में एक्सएलआरआई से पास आउट शहर के युवा उद्यमी अक्षय अग्रवाल ने झारखंड समेत भारत के कलाकारों को समर्थन प्रदान करने, उनकी रचनात्मक कला को प्रदर्शित करने और प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से एक वेबसाइट www.dirums.com लांच किया है. इस वर्चुअल आर्ट गैलरी में नामी-गिरामी कलाकारों के साथ ही शहरी और ग्रामीण इलाकों के प्रतिभावान कलाकारों को एक शानदार प्लेटफार्म मिलेगा. जिससे वे
अपनी कला का प्रदर्शन कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बना सकते हैं.
इस संबंध में अक्षय ने बताया कि कोरोना संक्रमण महामारी ने कई लोगों की आजीविका को प्रतिकूल रूप से प्रभावित किया है. जिसमें आर्ट कलाकार भी शामिल हैं, जो अपनी कला दिखाने और बेचने के लिए दर्शकों पर भरोसा करते हैं. इस समस्या के समाधान के लिए इस ऑनलाइन मंच की शुरुआत की गई है. यह स्थानीय और पूर्णकालिक प्रतिभाशाली कलाकारों को राज्य, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के साथ ही रोजगार भी उपलब्ध कराएगा.
कला को चाहने वालों को इस वर्चुअल आर्ट गैलरी में हर तरह का आर्ट देखने को मिलेगा. अक्षय ने कहा कि आर्ट में मोनोपोली के चलते कई कलाकार आगे नहीं आ पाते हैं. ऐसे में हमारी यह कोशिश होगी कि सभी कलाकारों के बनाए गए प्रोडक्ट को पूरी जगह दी जाए. इतना ही नहीं कलाकार इसकी मदद से अपने आर्ट प्रोडक्ट सीधे वेबसाइट में डाल सकते हैं.
अक्षय ने बताया कि इसमें पूरी तरह से जो भी आर्ट उपलब्ध हैं वह प्राकृतिक रंगों से बना है और फिलहाल इस प्लेटफार्म में ढाई हजार से डेढ़ लाख रूपए तक हैं. उन्होंने बताया कि इसमें किसी भी कालाकार को अपने आर्ट के लिए बाजार की आवश्यकता नहीं है. वह साइट में जाकर उसे अपलोड कर सकता है. आर्ट की बिक्री होने पर कूरियर और पैकिंग खर्च काटकर सीधे बाकी पैसे कालाकार के खाते में भेजे जाएंगे.