झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

झारखंड में 140 नए डॉक्टर की नियुक्ति, मेडिकल कॉलेज में देंगे सेवा

कुणाल सारंगी

झारखंड में कोरोना मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ रही है. कोरोना के चपेट में स्वास्थ्यकर्मी और डॉक्टर भी लगातार आ रहे हैं. इधर स्वास्थ्य सेवा को सुचारू रखने के लिए राज्य में डॉक्टरों की कमी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने विभिन्न मेडिकल

कॉलेजों के लिए 140 डॉक्टरों को पीजी बांड के तहत सेवा देने के लिए नियुक्त किया है.

रांची: कोरोना संकट में स्वास्थ्यकर्मियों और डॉक्टरों की कमी से लगातार स्वास्थ्य विभाग को जूझना पड़ रहा है, क्योंकि एक तरफ कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है तो वहीं दूसरी ओर संक्रमित मरीजों को ठीक करने में लगे डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी भी लगातार संक्रमित हो रहे हैं. इसी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों के लिए 140 डॉक्टर को पीजी बांड के तहत राज्य सरकार के अधीन सेवा देने के लिए नियुक्त किया है.
इन डॉक्टर की नियुक्ति निर्धारित प्रावधान के तहत एक साल के लिए की गई है. इन डॉक्टर को धनबाद के पीएमसीएच अस्पताल, जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल, दुमका, पलामू और हजारीबाग में बने नए मेडिकल कॉलेजों में नियुक्त किया जाएगा. फिलहाल 139 डॉक्टर की नियुक्ति सभी मेडिकल कॉलेजों में सीनियर रेजिडेंट के पद पर की जा रही है, जबकि एक डॉक्टर की नियुक्ति सदर अस्पताल रांची में मेडिकल अफसर के रूप में की गई है.
गौरतलब है कि किस प्रकार से मरीजों को ठीक करने में लगे स्वास्थ्यकर्मी और डॉक्टर लगातार संक्रमित होकर बीमार पड़ रहे हैं. ऐसे में राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों में डॉक्टरों की कमी देखी जा रही है, जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग ने 140 नए डॉक्टरों की नियुक्ति की है, ताकि वह सरकारी स्तर पर मरीजों की सेवा कर सके.