झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

बागबेड़ा: विद्यापति सभागार हेतु भूमि पूजन

Ambuj Kumar Kunal Sarangi width Anshar Khan ADJ Kamlesh Jitendra Rais Rozvi Rishi Mishra Rina Gupta

जमशेदपुर। बागबेड़ा मैथिल समाज की एक धरोहर , जिसकी बुनियाद 1980 में रखी गई थी।जिसके बाद विद्यापति परिसर के नाम पर कमिटी का गठन किया गया था। इस संस्था के गठन में बागबेड़ा, हरहरगुट्टू, जुगसलाई, परसुडीह और सुंदरनगर क्षेत्रों के मैथली भाषा- भाषियों के सहयोग से ही इस संस्था का गठन किया गया।
संस्था के गठन में मुख्य भूमिका डॉ राजेन्द्र मिश्र अंशुमाली, डॉ वीरेंद्र कुमार मिश्र, डॉ विनय कुमार मिश्र, स्वर्गीय उमाकांत मिश्र ( जय जय सियाराम), मोहन झा, मोद नारायण झा, स्वर्गीय दिलीप कुमार मिश्र, स्वर्गीय पवन कुमार मिश्र, स्वर्गीय भोगेंद्र मिश्र,स्वर्गीय मदन मोहन खां , रामदेव ठाकुर , राज नारायण झा, राज टेकन झा, प्रमोद कुमार झा की अहम भूमिका रही है।

इस संस्था के सभागार के निर्माण हेतु स्वर्ग गोविंद झा के संयोजक में 11 सदस्यों के कमिटी का गठन किया गया। इस बैठक में जुगसलाई, बागबेड़ा, सुंदरनगर, परसुडीह थाना क्षेत्र के मैथिल भाषा भाषियों का जुटान हुआ उस बैठक में समाज के सहयोग से सभागार बनाने का निर्णय लिया गया। इस सभागार हेतु ईचागढ़ विधायक अरविंद कुमार सिंह के द्वारा भूमि पूजन किया गया लेकिन समाज के कुछ लोगो को नागवार गुजरा और पुरानी कमिटी को अवैध रूप से भंग करदिया गया उसके बाद इस निर्माण कार्य में ग्रहण लग गया इसकी अगुवाई डाक्टर अशोक अविचल कर रहे थे लेकिन अब इन क्षेत्रों के मैथिल युवा वर्ग ने मिथलांचल के सभी प्रबुद्ध नागरिकों के सहमति से इस अधूरे काम को पूरा करने का निर्णय लिया है।

सूत्रों के अनुसार करीब 10 कट्टा जमीन में आधुनिक रूप से विद्यापति परिषद सभागार बनाने का पुनः आज भूमि पूजन समाज के वरिष्ठ लोगो के सहयोग से किया गया।
इस निर्माण कार्य में अखिलेश मिश्र की अहम भूमिका है। जो समाज के सभी लोगो को साथ लेकर इस अभियान को सफल बनाने में लगे हुए है। श्री मिश्र ने कहाँ की विद्यापति सभागार के निर्माण में 20 लाख रुपये लागत आने की संभावना है। श्री मिश्र ने समाज के सभी लोगो को सभागार बनाने में सहयोग करने की अपील की है।

About Post Author