झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

स्वास्थ्य मंत्री ने किया सदर अस्पताल का औचक निरीक्षण, कैंटीन में खाया खाना, व्यवस्था पर जताई संतुष्टि

कुणाल सारंगी

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता खासमहल स्थित सदर अस्पताल का अचानक औचक निरीक्षण करने पहुंचे. बता दें कि इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री अस्पताल के विभिन्न वार्ड में जाकर मरीजों से मिले कैंटीन का खाना खाया है और साफ-सफाई का जायजा लिया और व्यवस्था पर संतुष्ट दिखे.

जमशेदपुर: झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता खासमहल स्थित सदर अस्पताल का औचक निरीक्षण करने पहुंचे. मंत्री के अस्पताल पहुंचते ही हड़कंप मच गया. इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री अस्पताल के विभिन्न वार्ड में जाकर मरीजों से मिले उनका हालचाल लिया. स्वास्थ्य मंत्री ने कैंटीन का खाना खाया है और साफ-सफाई का जायजा लिया. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सदर अस्पताल मील का पत्थर साबित हो रहा है. इसे अपग्रेड कर रोल मॉडल बनाया जाएगा और कोविड जांच के लिए 162 ट्रूनेट मशीन मंगाया जा रहा है.
जमशेदपुर के परसुडीह खासमहल स्थित सदर अस्पताल में झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बिना सूचना के औचक निरीक्षण करने पहुंचे. बिना दल बल के पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री के अस्पताल में आने की सूचना मिलते ही सिविल सर्जन जिला सर्विलांस पदाधिकारी अस्पताल पहुंचे.
स्वास्थ्य मंत्री अस्पताल के कर्मचारियों और डॉक्टरों से मुलाकात कर वर्तमान स्थित का जायजा लिया और विभिन्न वार्ड का दौरा किया. इस दौरान मरीजों से मुलाकात कर मिलने वाली सुविधा की जानकारी ली. अस्पताल में मरीजों को मैन्यू के अनुसार मिलने वाला खाना का जायजा लेने अस्पताल स्थित कैंटीन पहुंचे और निरीक्षण कर बन्ना गुप्ता ने कैंटीन का खाना भी खाया.
अस्पताल की व्यवस्था और साफ-सफाई से मंत्री संतुष्ट दिखे और रांची सिविल सर्जन को दुरभाष के माध्यम से कहा कि जमशेदपुर का सदर अस्पताल जैसा रांची के सदर अस्पताल में व्यवस्था की जाए. बातचीत के दौरान स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि वर्तमान हालात में व्यवस्था का सदर अस्पताल में औचक निरीक्षण किया गया है. यहां की व्यवस्था अच्छी है. कैंटीन का खाना भी अच्छा है. उन्होंने कहा कि यहां के जैसा ही अन्य अस्पतालों को भी दुरुस्त करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि सदर अस्पताल मील का पत्थर साबित हो रहा है. इसे अपग्रेड कर रोल मॉडल बनाया जाएगा. वहीं,
एमजीएम अस्पताल पर कहा कि वहां की व्यवस्था को भी ठीक किया जाएगा. उन्होंने कहा कि कोविड जांच के लिए 162 ट्रूनेट मशीन मंगाया जा रहा है, जिसे सभी अस्पतालों में दिया जाएगा. वर्तमान में पलामू में लैब की शुरुआत की गई है, जल्द ही दुमका और देवघर में लैब खोला जाएगा.