झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कोरोना के कारण सरकारी कामकाज प्रभावित, कोडरमा खनन कार्यालय में पिछले 7 दिनों से लटका हैं ताला

कुणाल सारंगी

कोडरमा जिले में कोरोना की बढ़ती संख्या के कारण सरकारी कार्यालयों को बंद कर दिया गया है. वहीं, खनन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी के संक्रमित होने के कारण कार्यालय में पिछले 7 दिनों से ताला लटका हुआ है.

कोडरमा: गुरुवार रात जिले में कोरोना संक्रमण के 46 नए मामले सामने आने के बाद जिले में संक्रमितों की संख्या 409 हो गई है. 46 नए मामलों में ज्यादातर संख्या विभिन्न थानों में पदस्थापित पुलिस जवानों, सरकारी अधिकारी और कर्मचारियों की है. इसके अलावा कुछ
व्यवसायी भी संक्रमित हुए हैं, जिसके बाद खनन कार्यालय को बंद कर सेनेटाइजेशन किया गया. फिलहाल कोडरमा जिले में कोरोना संक्रमण के पाज़ीटिव मामलों की संख्या 158 है.
जिले में कई अधिकारी संक्रमित
पुलिसकर्मी, बैंककर्मी, स्वास्थ्यकर्मी और अधिकारियों के संक्रमित होने के कारण सरकारी कार्यालयों में कामकाज भी प्रभावित होने लगे हैं. खनन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी के संक्रमित होने के कारण इस कार्यालय में पिछले 7 दिनों से ताला लटका है. वहीं, अनुमंडल कार्यालय भी चार दिनों के बाद खोला गया. दूसरी तरफ वाणिज्य कर विभाग के चार कर्मचारियों की रिपोर्ट एक साथ पॉजिटिव आने के बाद कार्यालय को अगले 48 घंटे के लिए सील कर दिया गया, जबकि कोडरमा थाना में पदस्थापित 6
पुलिसकर्मियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कोडरमा थाने को भी 48 घंटे के लिए सील कर दिया गया.
सतर्कता बरतने की अपील
वहीं, दूसरी जिन इलाकों से संक्रमित पाए जा रहे हैं, उन इलाकों को कंटेनमेंट जोन बनाकर सेनेटाइजेशन का काम किया जा रहा है. कोरोना संक्रमण के बढ़ते दायरे के रोकथाम के मद्देनजर उपायुक्त रमेश घोलप ने आम लोगों से सतर्कता बरतने की अपील की. उपायुक्त ने कहा कि लोग नियमित तौर पर मास्क पहने और समाजिक दूरी का पालन करें.