झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

एस एस एल एन टी अस्पताल को प्रशासन ने किया अधिग्रहित

कुणाल सारंगी

धनबाद में तेजी से कोरोना वायरस का संक्रमण हो रहा है. इससे निपटने के लिए जिला प्रशासन ने तैयारी भी तेज कर दिया है. उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने टेलिफोन एक्सचेंज रोड स्थित श्री श्री लक्ष्मी नारायण ट्रस्ट (एसएसएलएनटी) अस्पताल को कोविड-19 से संक्रमित गर्भवती महिलाओं के उपचार के लिए तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक के लिए अधिग्रहित किया है. उपायुक्त की इस पहल से अब जिले के कोरोना संक्रमित गर्भवति महिलाओं को इलाज में सहुलियत मिलेगी.

धनबाद: उपायुक्त सह जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार के अध्यक्ष उमा शंकर सिंह ने टेलिफोन एक्सचेंज रोड स्थित श्री श्री लक्ष्मी नारायण ट्रस्ट (एसएसएलएनटी) अस्पताल को कोविड-19 से संक्रमित गर्भवती महिलाओं के उपचार के लिए तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक के लिए अधिग्रहित किया है. उपायुक्त की इस पहल से अब जिले के कोरोना संक्रमित गर्भवती महिलाओं को इलाज में सहुलियत मिलेगी.
इस संबंध में उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने बताया कि कोविड-19 से संक्रमित व्यक्तियों के इलाज के लिए कोविड-19 अस्पताल (सेंट्रल अस्पताल), डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर (पीएमसीएच) और टाटा अस्पताल, जामाडोबा में उपचार किया जा रहा है. गर्भवती माताओं और बहनों के लिए शहर के बीच में स्थित एसएसएलएनटी अस्पताल उपयुक्त स्थल है. इसलिए इस अस्पताल को आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 65 के तहत तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक अधिग्रहित किया है.
इस अस्पताल को 48 घंटे के अंदर इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) नई दिल्ली के निर्देशानुसार डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर के रूप में तैयार करने का आदेश दिया है. यहां संक्रमित गर्भवती माताओं और बहनों का उपचार किया जाएगा. बता दें कि धनबाद में तेजी से कोरोना वायरस का संक्रमण हो रहा है. ऐसे में इससे निपटने के लिए जिला प्रशासन ने तैयारी भी तेज कर दी है.