झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

घंघरी टोल प्लाजा के चार कर्मियों को भेजा जेल

कुणाल सारंगी

गिरिडीह के घंघरी टोल प्लाजा के चार कर्मियों को डुमरी पुलिस ने रविवार को जेल भेज दिया है. बीते दिन ट्रक चालक के साथ मारपीट कर छिनतई करने के मामले में हिरासत में लिए गए घंघरी टोल प्लाजा के चार कर्मियों

को हिरासत में लिया था. टोल कर्मियों ने ट्रक चालक पर टॉल टैक्स भुगतान किए बिना वहां से भागने का आरोप लगाते हुए मारपीट की थी.

गिरिडीह: ट्रक चालक के साथ मारपीट कर छिनतई करने के मामले में हिरासत में लिए गए घंघरी टोल प्लाजा के चार कर्मियों को डुमरी पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. इस मामले में गिरफ्तार लोगों ने पूछताछ के दौरान पुलिस को अपना नाम गलत बताया था, जिसके कारण प्राथमिकी में चारों अपराधियों का गलत नाम अंकित हो गया था.
डुमरी थाना क्षेत्र के सिमराडीह मोड़ के समीप शुक्रवार को टोल कर्मियों ने पटना से बोकारो जा रहे एक ट्रक का स्कोर्पियो से पीछा कर डुमरी थाना क्षेत्र के घुजाडीह के पास चालक के साथ मारपीट की थी. टोल कर्मियों ने ट्रक चालक पर टॉल टैक्स भुगतान किए बिना वहां से भागने का आरोप लगाते हुए मारपीट की थी. वहीं ट्रक चालक का कहना था कि उसके पास फास्ट टैग है, इस कारण टोल से गुजरते समय स्वतः टॉल का भुगतान ऑनलाइन होता है. ट्रक चालक ने टोल कर्मियों पर मारपीट करने और एक लाख रुपया लूट लेने का आरोप लगाया था
पुलिस ने इस मामले में ट्रक चालक की शिकायत पर डुमरी पुलिस ने शुक्रवार को टोल प्लाजा कर्मी गया के कोच थाना क्षेत्र के टनकुप्पा निवासी रविरंजन कुमार, राजस्थान के अजमेर निवासी लोकेश कुमार, औरंगाबाद निवासी भीम कुमार, हजारीबाग निवासी सुमन सहित अन्य अज्ञात के खिलाफ मारपीट और छिनतई का मामला दर्ज किया था. पुलिस ने चारों आरोपियों को घटना के दिन ही मौके से हिरासत में लिया था. उनके खिलाफ भादवि की धारा 341, 323, 379, 504 व 34 के तहत मामला दर्ज किया है. इस संबंध में डुमरी थाना प्रभारी ने बताया कि ट्रक चालक के साथ कल हुए मारपीट के मामले में हिरासत में लिए गए रवि रंजन कुमार, लोकेश कुमार, भीम कुमार और सुमन कुमार को रविवार को गिरिडीह जेल भेज दिया गया है. चारों ने पूछताछ के दौरान अपना नाम गलत बताया था, जिसकी पुष्टि बाद में उनके आधार कार्ड से हुई.