झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

टाटा मुख्य अस्पताल के आईसीयू में बेड फुल, होटलों को बनाया जा रहा कोविड अस्पताल

कुणाल सारंगी

झारखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है. जमशेदपुर में भी कोरोना लगातार पैर पसार रहा है, जिसके कारण टाटा मेन अस्पताल पर लोड बढ़ गया है. अस्पताल के आईसीयू में 56 बेड हैं जो पूरी तरह से भर गए हैं. अस्पताल में बढ़ते लोड

को देखते हुए जीटी हॉस्टल 3, 2 और होटल जिंजर को अस्पताल के तौर पर तैयार किया गया है.

जमशेदपुर: टाटा मेन अस्पताल कोल्हान प्रमंडल के लोगों को वरदान साबित हो रहा है, लेकिन वर्तमान में लगातार मरीजों की संख्या बढ़ने से अस्पताल पर लोड बढ़ रहा है. हर दिन गंभीर मरीजों की संख्या बढ़ रही है. टीएमएच के आईसीयू में 56 बेड हैं जो पूरी तरह से भर गया है, लेकिन हर दिन ऐसे मरीज अस्पताल पहुंच रहे हैं जिन्हें वेंटिलेटर और आईसीयू की जरूरत पड़ रही है.
मरीजों के बढ़ती संख्या को लेकर काफी कठिनाई हो रही है. टीएमएच और टाटा स्टील प्रबंधन ने अस्पताल में बढ़ते लोड को देखते हुए जीटी हॉस्टल 3, 2 और होटल जिंजर को अस्पताल के तौर पर तैयार किया है, लेकिन वहां एसिमेटिक लक्षण वाले ही मरीजों को रखा जा रहा है.
आपको बता दें कि टाटा मेन अस्पताल में लोड को कम करने के लिए टिनप्लेट अस्पताल को भी दो दिन पहले कोविड अस्पताल के तौर पर तैयार कर दिया गया है, जहां 65 बेड का इंतजाम है.