झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

गिरिडीह में हाथियों का उत्पात

कुणाल सारंगी

गिरिडीह के कई इलाकों में हाथियों के झुंड का उत्पात जारी है. तीन दिन पहले ये झुंड धनबाद के टुंडी से गिरिडीह पहुंचा है, जिसके बाद यह दल अब तक कई घरों और ग्रामीणों की फसलों को बर्बाद कर चुका है. हाथियों को झुंड से लोगों में दहशत भी है.

गिरिडीह: धनबाद के टुंडी की ओर से गिरिडीह में प्रवेश करने वाले हाथियों के झुंड से स्थानीय लोग दहशत में हैं. पिछले तीन दिनों से हाथियों का यह दल यहां उत्पात मचा रहा है. 20 हाथियों के झुंड ने पीरटांड़ के बोनासिंघा, बिशनपुर समेत आसपास के इलाके के कई ग्रामीणों की फसलों और घरों को बर्बाद कर दिया है. बोनासिंघा में दो और बिशनपुर में दो घरों को हाथियों ने तोड़ दिया है. हाथियों के झुंड के आने से इलाके में दहशत का माहौल है.
बताया जा रहा है कि हाथियों के झुंड में से एक हथिनी ने एक बच्चे को भी जन्म दिया है. ऐसे में हाथियों का झुंड आक्रमक है. इधर वनकर्मियों ने लोगों को हाथियों से दूर रहने के लिए कहा है.
हाथियों के झुंड यहां आए दिन परेशानी का सबब बन रहे हैं. जिले के डुमरी, पीरटांड़, बगोदर, सरिया, बिरनी, मुफस्सिल, ताराटांड़, खुखरा, मधुबन इलाके में हाथी अक्सर पहुंचते हैं और लोगों के सामान को क्षति पहुंचाते हैं.