झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

मनमोहन सिंह ने संकट से निकलने के लिए मोदी सरकार को दिए तीन सुझाव

कुणाल सारंगी

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के मुताबिक़, कोरोना वायरस महामारी से हुए नुकसान से निबटने के लिए भारत को तत्काल तीन क़दम उठाने चाहिए.

बड़े तौर पर भारत में आर्थिक सुधार कार्यक्रम का श्रेय डॉ. सिंह को दिया जाता है. मनमोहन सिंह ने इस हफ़्ते बीबीसी से ईमेल के ज़रिए बातचीत की है. कोरोना वायरस के चलते आमने-सामने बैठकर चर्चा की गुंजाइश नहीं थी. हालांकि, डॉ. सिंह ने एक वीडियो कॉल के ज़रिए इंटरव्यू से इनकार कर दिया.

ईमेल के ज़रिए हुई बातचीत में मनमोहन सिंह ने कोरोना वायरस संकट को रोकने और आने वाले वर्षों में आर्थिक स्थितियां सामान्य करने के लिए ज़रूरी तीन क़दमों का ज़िक्र किया है.

वे कहते हैं, पहला क़दम यह है कि सरकार को “यह सुनिश्चित करना चाहिए कि लोगों की आजीविका सुरक्षित रहे और अच्छी-ख़ासी सीधे नक़दी मदद के ज़रिए उनके हाथ में खर्च लायक पैसा हो.”

दूसरा, सरकार को कारोबारों के लिए पर्याप्त पूंजी उपलब्ध करानी चाहिए. इसके लिए एक “सरकार समर्थित क्रेडिट गारंटी प्रोग्राम चलाया जाना चाहिए.”

तीसरा, सरकार को “सांस्थानिक स्वायत्तता और प्रक्रियाओं” के ज़रिए वित्तीय सेक्टर की समस्याओं को हल करना चाहिए.