झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कोविड-19 से संबंधित चल रही गतिविधियों की डीएम ने की समीक्षा, आइसोलेशन बेड एवं जांच की संख्या बढ़ाने के निर्देश

कुणाल सारंगी

लखीसराय| अजय कुमार:समाहरणालय के कार्यालय कक्ष में जिला पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने कोविड-19 से संबंधित संचालित गतिविधियों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया की प्रत्येक दिन हर हाल में कम-से-कम 450 कोरोना संदिग्ध लोगों की जांच कराए जाएं। साथ ही लैब टेक्नीशियन की नियुक्ति में तेजी लाते हुए प्रावधान के मुताबिक चयन प्रक्रिया शीघ्र पूरी कराएं, ताकि जांच के कार्य में गति लाई जा सके।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु आवश्यक जानकारी आम जनमानस को उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सरकार द्वारा लखीसराय जिले के लिए टोल फ्री नंबर..1800-345-6626 जारी किया गया है। उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश देते हुए कहा कि इस टोल फ्री नंबर का व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित कराएं।
उन्होंने बाल विकास परियोजना की जिला प्रोग्राम पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि शहरी क्षेत्रों में आशा कार्यकर्ता नहीं है, उनके स्थान पर आंगनबाड़ी सेविका, सहायिकाओं को होम सर्वे एवं फॉलो-अप के लिए लगाया जाए तथा जिला नियंत्रण कक्ष के अंतर्गत संचालित कॉल सेंटर की नियमित जांच सुनिश्चित करें।

उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश देते हुए कहा की कोविड केयर सेंटर पर आवासित मरीजों को सरकार के प्रावधान के अनुसार नाश्ता, खाना एवं पानी सही तरीके से मिलने चाहिए, इसमें किसी प्रकार की शिकायत आने पर संबंधित को चिन्हि्त करते हुए कड़ी कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि सदर अस्पताल में 4 वेन्टिलेटर मौजूद हैं, जिसके लिए कम-से-कम 8 से 10 बेड का आईसीयू बनाने की प्रक्रिया में तेजी लाएं। साथ ही लक्ष्य के अनुसार आइसोलेशन बेड की संख्या बढ़ाने हेतु त्वरित कार्रवाई करें एवं तदनुसार बजट की मांग करें। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि सदर अस्पताल के कॉल सेंटर पर कम-से-कम 5 एंबुलेंस की व्यवस्था निश्चित रूप से रहनी चाहिए ताकि किसी भी आकस्मिक परिस्थिति में उसका उपयोग किया जा सके।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु सतर्कता एवं सावधानी आवश्यक है। इन कार्यों में लगे चिकित्सकों एवं पारा मेडिकल कर्मियों को पूरी संवेदनशीलता तथा तत्परता से कार्य करने की जरूरत है। बैठक के दौरान सिविल सर्जन द्वारा बताया गया कि प्राइवेट हॉस्पिटल को टैग करने की प्रक्रिया के तहत स्थानीय सुदामा अस्पताल को चिन्हित किया गया है।
बैठक में सिविल सर्जन डॉक्टर आत्मानंद कुमार, भूमि सुधार उप समाहर्ता-सह-स्वास्थ्य विभाग के नोडल पदाधिकारी संजय कुमार, बाल विकास परियजना की जिला प्रोग्राम पदाधिकारी कुमारी अनुपमा, कोविड केयर सेंटर के नोडल पदाधिकारी एवं वरीय उप समाहर्ता राकेश रंजन सहित स्वास्थ विभाग के अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।