झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

नहीं थम रहा अवैध कोयले का कारोबार, दिन-दहाड़े हो रही ढुलाई

कुणाल सारंगी

धनबाद: झरिया के अलखडीहा और तीसरा थाना क्षेत्र स्थित विभिन्न आउटसोर्सिंग से कोयला माफिया प्रतिदिन सैकड़ों कोयला चोरों से अवैध कोयले की निकासी करवा रहे हैं. अवैध कोयले की ढुलाई में दर्जनों स्कूटर, मोटर साइकिल और साइकिल लगे होते हैं जो सुबह से शाम तक यह काम करते हैं. उन वाहनों से अवैध कोयले को बलियापुर थाना क्षेत्र से होते हुए दामोदर नदी के रास्ते बंगाल ले जाया जाता है.

कोयला तस्करों ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि वे अवैध कोयला सुरूंगा और पहाड़ीगोडा से खरीदकर बलियापुर थाना क्षेत्र से होते हुए दामोदर नदी के रास्ते उसे बंगाल ले जाते हैं जहां इसकी अच्छी-खासी कीमत मिलती है.

ये सभी कोयला तस्कर बेधड़क सुबह 4:00 बजे से संध्या 3:00 बजे तक तीसरा थाना, अलखडीहा थाना और बलियापुर थाना होते हुए अवैध कोयले की धुलाई करते हैं. सोचने वाली बात यह है कि तीन थाना क्षेत्रों से इतने बड़े पैमाने पर अवैध कोयले की तस्करी की जा रही है लेकिन पुलिस के कान में जूं तक नही रेंग रही है.

यही नहीं, अवैध कोयले को लेकर सड़को पर ये गाड़ियां ऐसे चलती हैं मानो इनके पास जिला प्रशासन द्वारा दिया गया कोई परमिशन हो. बता दें कि अवैध कोयला माफिया के खिलाफ पुलिस द्वारा कई बार कार्यवाई भी की गयी है, सैकड़ों टन कोयला, साइकिल, स्कूटर, मोटरसाइकिल तक जब्त किये गये लेकिन कभी भी कोयला तस्कर पुलिस के हाथ नहीं लगा जिसकी वजह से अवैध कोयले की तस्करी चरम पर है.