झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

जामताड़ा में साइबर अपराधी गिरफ्तार, फर्जी सिम और पासबुक बरामद

कुणाल सारंगी

जामताड़ा में रिंगो चिगो गांव से एक साइबर अपराधी को पकड़ा गया है. उनके पास से काफी संख्या में फर्जी सिम एटीएम बैंक पासबुक और लाखों का फिक्स डिपाजिट बरामद किया है.

जामताड़ा: जिले में साइबर थाने की पुलिस ने करमाटांड़ थाना क्षेत्र के रिंगो चिगो गांव से एक साइबर अपराधी को पकड़ा गया है. अपराधी के पास से काफी संख्या में फर्जी सिम एटीएम बैंक पासबुक और लाखों का फिक्स डिपाजिट बरामद किया है. जामताड़ा साइबर थाने की पुलिस ने साइबर का गढ़ माने जाने वाला करमाटांड़ थाना क्षेत्र के दिन कोचिंग गांव से साइबर अपराधी को पकड़ा. साइबर अपराधी का नाम टीका मंडल बताया गया है. इसके पास से पुलिस ने काफी संख्या में फर्जी सिम, पेटीएम, मोबाइल बैंक पासबुक और लाखों का फिक्स्ड डिपॉजिट सर्टिफिकेट बरामद किया है.
दोनों भाई मिलकर साइबर अपराध के घटना को अंजाम देने का काम करते थे. दोनों भाई ने मिलकर फर्जी बैंक अधिकारी बनकर लोगों को झांसा देकर साइबर ठगी कर अटूट संपत्ति भी अर्जित की है. साइबर थाना की पुलिस ने दोनों भाई टिका मंडल और पिका मंडल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. इसमें से एक भाई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इनके पास से पुलिस ने करीब लाखों का फिक्स डिपॉजिट सर्टिफिकेट बरामद किया है. यह एक जांच का विषय है कि गरीबी रेखा से नीचे रहने का भी लाभ लेकर साइबर अपराध कर अटूट संपत्ति अर्जित कर रहे हैं.
साइबर थाना की पुलिस द्वारा बताया गया कि पकड़े गए साइबर अपराधी ने अन्य राज्यों में भी साइबर घटना को अंजाम दिया है और पूर्व में भी 2017 में दो भाई साइबर अपराध में जेल जा चुके हैं. जेल से छूटने के बाद फिर से यह साइबर घटना को अंजाम दे रहे थे. साइबर थाना के प्रभारी सुनील कुमार चौधरी ने पकड़े गए साइबर अपराधी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि रिंगो चिगो गांव से टीका मंडल और पिका मंडल दोनों भाई जो साइबर अपराधी घटना को अंजाम देते थे. एक भाई को गिरफ्तार किया गया है और दोनों भाई के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.इनके द्वारा बताया गया कि पकड़े गए साइबर अपराधी के पास से काफी संख्या में फर्जी सिम मोबाइल एटीएम फिक्स सर्टिफिकेट बरामद किया गया है.