झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

इंफिनिटी इंडस्ट्रियल पार्क के विस्थापितों से धोखाधड़ी, डीसी से ग्रामीणों ने की कार्रवाई की मांग

कुणाल सारंगी

सरायकेला के बीरबास पंचायत के इंफिनिटी इंडस्ट्रियल पार्क लिमिटेड से विस्थापित हुए ग्रामीणों को कंपनी की ओर से नौकरी मुहैया नहीं कराने की मांग को लेकर लोगों ने उपायुक्त से मुलाकात की. कंपनी ने ग्रामीणों
के साथ किए गए एग्रीमेंट को लागू नहीं कर रहा है. इसे लेकर गुरुवार को खरसावां विधायक दशरथ गगराई के नेतृत्व में ग्रामीणों ने उपायुक्त अंजनेयुल दोड्डे से मिलकर कंपनी पर कार्रवाई की मांग की है.

सरायकेला: जिले के बीरबास पंचायत अंतर्गत इंफिनिटी इंडस्ट्रियल पार्क लिमिटेड से विस्थापित हुए ग्रामीणों को कंपनी की ओर से नौकरी मुहैया नहीं कराने की मांग को लेकर लोगों ने उपायुक्त से मुलाकात की. कंपनी ने ग्रामीणों के साथ एग्रीमेंट कर उनके साथ धोखाधड़ी किए जाने के मामले को लेकर स्थानीय ग्रामीणों ने खरसावां विधायक दशरथ गगराई के नेतृत्व में उपायुक्त अंजनेयुल दोड्डे से मिलकर कंपनी प्रबंधन के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है.
स्थानीय ग्रामीणों ने उपायुक्त से मिलकर बताया है कि बीरबास पंचायत के इंफिनिटी इंडस्ट्रियल पार्क के तहत उद्योग लगाए जाने से पूर्व ग्रामीणों से एग्रीमेंट के तहत नौकरी मुहैया कराए जाने का करार किया गया था, लेकिन अब कंपनी प्रबंधन एग्रीमेंट को भी दरकिनार कर मनमानी कर रहा है. मौके पर मौजूद विधायक दशरथ गगराई ने विस्थापित और रैयतों के साथ मुलाकात के दौरान उपायुक्त को पूरी स्थिति से अवगत कराया. इधर मामले को लेकर जिले के उपायुक्त ए दोड्डे ने अनुमंडल पदाधिकारी को इंफिनिटी इंडस्ट्रियल पार्क लिमिटेड को नोटिस जारी करते हुए रैयतों के साथ वार्ता किए जाने संबंधित निर्देश दिया है. गौरतलब है कि ग्रामीणों का आरोप है कि इंडस्ट्रियल पार्क बनाने के बाद प्रबंधन ने रैयतों की जमीन को एक अन्य कंपनी को भी बेच दिया गया है.