झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

जूम एप के माध्यम से आयोजित हुआ प्रशिक्षण कार्यक्रम

कुणाल सारंगी

लखीसराय। बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व्यास जी की अध्यक्षता में लखीसराय जिला अंतर्गत आपदा प्रबंधन से जुड़े पदाधिकारी पंचायती राज संस्था के प्रतिनिधियों के साथ जूम ऐप के माध्यम से मानसून आधारित आपदा जोखिम न्यूनीकरण के उद्देश्य से प्रशिक्षण का आयोजन किया गया, जिसमें बाढ़, भूकंप, सांप काटने, वज्रपात इत्यादि अन्य विभिन्न आपदाओं के समय उसके नुकसान को कम करने के उद्देश्य से पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रस्तुति दी गई।

कार्यक्रम के दौरान जिला पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने लखीसराय जिला अंतर्गत आपदा प्रबंधन के तहत की गई तैयारियों के विषय में विस्तार से जानकारी दी एवं बताया कि बाढ़ आपदा प्रबंधन के लिए संबंधित प्रखंडों में मानक संचालन प्रक्रिया के अनुरूप तैयारी की गई है। आश्रय स्थल को चिन्हि्त किया गया है एवं उन स्थलों पर सभी आवश्यक मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जा रही है।

बैठक में प्राप्त निर्देश के आलोक में जिला पदाधिकारी ने सिविल सर्जन को निर्देश देते हुए कहा कि बाढ़ आपदा के दौरान सभी पंचायतों में आवश्यक दवाओं की सुविधा मुहैया कराएं, खास करके पैरासिटामोल, ओ.आर.एस. की उपलब्धता सुनिश्चित रहे। उन्होंने इसे आंगनबाड़ी एवं आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए।

उन्होंने आपदा प्रबंधन के प्रभारी पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि सभी सरकारी एवं निजी नाव पर भार क्षमता से संबंधित मार्किंग कराएं तथा नावों के निबंधन के साथ-साथ उन्हें वाजिब परवाना देने की कार्रवाई सी.ओ. के माध्यम से सुनिश्चित कराएं। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि सभी बाढ़ संभावित क्षेत्रों में बच्चो, बूढ़ों एवं लाचारों की सूची पूर्व में ही तैयार की जानी चाहिए, ताकि बाढ़ की स्थिति बनने पर उन्हें सुरक्षित स्थान पर ले जाने के लिए समुचित व्यवस्था सुनिश्चित रहे।

जूम एप से आयोजित उक्त बैठक के दौरान बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री व्यास जी ने जिला अंतर्गत की गई तैयारियों के प्रति संतोष व्यक्त किया एवं कहा कि बाढ़ के समय स्वास्थ्य सुविधा एवं पशुओं की चिकित्सा सुविधा बहाल करने के दृष्टिकोण से मोबाइल मेडिकल टीम गठित की जानी चाहिए। साथ ही पंचायत स्तर पर आवश्यक दवाओं की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जानी चाहिए।

बैठक के दौरान जिला मुख्यालय से जिला पदाधिकारी संजय कुमार सिंह के साथ अपर समाहर्ता मोहम्मद इबरार आलम, भूमि सुधार उप समाहर्ता संजय कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी मुरली प्रसाद सिंह, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला परिवहन पदाधिकारी रामाशंकर, स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक, आपदा प्रबंधन के प्रभारी पदाधिकारी राकेश कुमार, यूनिसेफ के प्रतिनिधि मोहम्मद नैय्यरुल आजम सहित प्रखंड मुख्यालय से प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी एवं पंचायती राज संस्था के प्रतिनिधि मुखिया, सरपंच के साथ अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।