झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

जेल में बंद बदमाश के नाम पर कर रहे थे वसूली, चार को पुलिस ने दबोचा

कुणाल सारंगी

गढ़वा पुलिस ने जेल में बंद विकास दुबे के नाम ऑटो चालकों से रंगदारी वसूल रहे चार युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. पुलिस ने आरोपियों के पास से एक देसी कट्टा और चार जिंदा कारतूस भी बरामद

किये हैं. पुलिस हथियार का भय दिखाकर रंगदारी वसूलने वाले पूरे नेटवर्क की जांच में जुट गई है.

गढ़वाः गढ़वा पुलिस ने जेल में बंद विकास दुबे के नाम ऑटो चालकों से रंगदारी वसूल रहे चार युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. पुलिस ने आरोपियों के पास से एक देसी कट्टा और चार जिंदा कारतूस भी बरामद किये हैं. पुलिस हथियार का भय दिखाकर रंगदारी वसूलने वाले पूरे नेटवर्क की जांच में जुट गई है.
इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी लक्ष्मीकांत ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि गढ़वा के रंका मोड़ में ऑटो चालकों से प्रतिदिन 100 रुपये की रंगदारी वसूली जा रही है. रंगदारी की राशि कई हाथों से होते हुए विकास दुबे तक पहुंचती है. इस मामले में पुलिस ने शनिवार देर शाम छापेमारी अभियान चलाकर आरोपियों को गढ़वा बाजार के सूर्या केशरी, टंडवा मोहल्ला के भोला गुप्ता, नवादा मोड़ के रोहित मिश्र और गोलू दुबे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.
थाना प्रभारी लक्ष्मीकांत ने बताया कि सूर्या केशरी प्रतिदिन हर ऑटो चालक से 100 रुपये बतौर रंगदारी वसूलता था. वह उस राशि को नवादा मोड़ निवासी रोहित मिश्र को देता था, रोहित मिश्र उसे पलामू जिले के पूर्वडीहा निवासी फोटू दुबे तक पहुंचाता था. फोटू उस राशि को विकास दुबे के गांव मझिआंव के चोका गांव के पिंटू दुबे को देता था. यहां से यह राशि विकास दुबे के पास पहुंचती थी
पुलिस का दावा है कि ये आरोपी चाउमिन की दुकान में पिस्तौल छिपाकर रखते थे, जो ऑटो चालक रंगदारी नहीं देता था उन्हें नवादा मोड़ के गोलू दुबे और रंका मोड़ पर ठेले पर चाउमिन बेचने वाला भोला गुप्ता पिस्तौल का भय दिखाकर धमकी देते थे.