झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के मौके पर सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोली खिलाकर राज्यस्तरीय कार्यक्रम की शुरुआत की

कुणाल सारंगी

राँची : राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के मौके पर सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोली खिलाकर राज्यस्तरीय कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम का आयोजन ठाकुर विश्वनाथ शाहदेव प्लस टू स्कूल के प्रशाल में हुआ। स्कूल के बच्चों के द्वारा अभिनंदन गीत गाकर अतिथियों का स्वागत किया गया।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि स्कूली शिक्षक अपनी उपस्थिति में बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोली खिलाएं। उन्होंने बच्चों को सम्बोधित करते हुए कहा कि किसी को खुश करने के लिए नहीं बल्कि स्वयं के फायदे के लिए यह गोली खाएं। हम हर बच्चे के स्वास्थ्य के लिए चिंतित हैं क्योंकि बच्चे ही देश के भविष्य हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि काला जार उन्मूलन के करीब हम हैं, कृमि की दवा के सभी खुराक खाने के बाद बहुत हद तक कुपोषण और अन्य बीमारियों की रोकथाम कर पाएंगे। आमजनों से उन्होंने आहवान किया कि कोविड- 19 अनुकूल व्यवहारों का पालन करते हुए 1-19 साल के सभी बच्चों और किशोर-किशोरियों को कृमि नियंत्रण की दवाई (एल्बेंडाजाॅल) जरूर खिलाएं। यह दवा सभी स्कूल और आंगनवाड़ी केन्द्रों पर राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर निःशुल्क खिलाई जाएगी। जो बच्चे छूट जाएं, उन्हें माॅप अप दिवस के दिन दवाई जरूर खिलवाएँ।
आमजनों से उन्होंने आहवान किया कि कृमि संक्रमण की रोकथाम आसान है :
•अपने हाथ साबुन से धोयें, विशेषकर खाने से पहले और शौच जाने के बाद।
•आस पास सफाई रखें।
•खुले में शौच ना करें।
•जूते/चप्पल पहनें।
•हमेशा साफ पानी पीयें।
•नाखून साफ और छोटे रखें।
•खाने को ढ़क कर रखें।
•फल व सब्जियाँ साफ पानी से धोयें।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अभियान निदेशक भुवनेश प्रताप सिंह ने कहा कि सरकारी विद्यालयों के साथ साथ निजी विद्यालय के बच्चों को भी एल्बेंडाजोल की खुराक खिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि कीड़ा बच्चों के पेट आंत और अन्य हिस्सों को प्रभावित करता है। खाना खाने के बाद भी उनके शरीर का विकास नहीं हो पाता है ऐसे में यह दवा उन कीड़ों को समाप्त करती है। 1 से 19 वर्ष तक के बच्चों को यह गोली निःशुल्क खिलाई जाती है लेकिन वास्तविक रूप में यह गोली बड़ों को भी खानी चाहिए। कार्यक्रम में डॉ आर एन शर्मा ने विषय प्रवेश कराते हुए कहा कि कृमि संक्रमण एक वैश्विक समस्या है। प्री स्कूल ग्रुप और स्कूल ग्रुप चिल्ड्रन को ज्यादा प्रभावित करता है। कृमि से संक्रमितों को एनीमिया की सम्भावना ज्यादा होती है। इसलिये एल्बेंडाजोल की गोली सभी बच्चों को अवश्य सेवन करना चाहिए। मौके पर रांची के सिविल सर्जन, आईईसी सेल के प्रभारी डॉ प्रदीप कुमार सिंह सहित तमाम पदाधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।