झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

वर्क फ्रॉम होम करने वालों को देना पड़ सकता है ज्यादा टैक्स, जानें क्यों…

कुणाल सारंगी

नई दिल्ली। कोरोना काल में अधिकतर प्रोफेशनल घर से ही काम कर रहे हैं। ऐसे में हो सकता है कि कन्वेंस अलाउंस अब टैक्स फ्री ना रह जाए। कोरोना प्रकोप के चलते वैकेशन और लीव ट्रैवल अलाउंस भी क्लेम नहीं किया जा सकेगा, जो एक 4 साल में दो बार क्लेम होता है। कन्वेंस अलाउंस जब रीइंबर्समेंट की तरह ऑफर किया जाता है तो वह पूरी तरह से टैक्स फ्री होता है अगर वाकई वो खर्चा हुआ है और उसके सबूत भी हैं। ऑफिशियल रूप से कहीं ना आ-जा पाने की सूरत में ये आय अब टैक्सेबल इनकम के दायरे में आ सकती है।