झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

वर्क फ्रॉम होम कल्चर से आईटी सेक्टर में बढ़े रोजगार के अवसर

कुणाल सारंगी

कोरोना संकट के दौरान वर्क फ्रॉम होम कल्चर विकसित होने का फायदा अब भारत को भी जबरदस्त तरीके से मिल रहा है. ऑनलाइन काम होने के कारण आईटी क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर भी युवाओं को प्रदान होने लगे हैं.

सरायकेला जिले के औद्योगिक क्षेत्र स्थित आईटी साइट सॉफ्टवेयर डेवलपर कंपनी ने लॉकडाउन के दौरान में 70 से भी अधिक युवाओं को रोजगार प्रदान किया है. अमेरिका जैसे देश में कोरोना के कारण अचानक ऑनलाइन कार्यों में उछाल आने का फायदा अब छोटे कस्बे और अन्य क्षेत्र में नौकरी गंवाने वाले युवाओं को मिल रहा है. निजी आईटी कंपनी में विगत दो महीनों से अमेरिकन कंपनी के ऑनलाइन कार्य संपादित किए जाने को लेकर आईटी सेक्टर में एक्सपर्ट की जबरदस्त मांग बढ़ी है. इसे लेकर कंपनी की ओर से लगातार हायरिंग प्रक्रिया अपनायी जा रही है, जिसके तहत युवाओं को यहां रोजगार मिल रहे हैं.
कोरोना के इस संकट काल में सभी शिक्षण संस्थान बंद हैं. ऐसे में पूरी पढ़ाई की प्रक्रिया ऑनलाइन मोड में ही चल रही है. लिहाजा आईटी सेक्टर में तकनीकी जानकारों की मांग अचानक बढ़ी है. विभिन्न स्कूल, कॉलेज और तकनीकी संस्थान अपने-अपने सॉफ्टवेयर विकसित कर छात्रों को ऑनलाइन पढ़ा रहे हैं. ऐसे में इन सॉफ्टवेयर और ऐप को डेवलप करने वाले आईटी विशेषज्ञ की मांग बढ़ी है.
विशेषज्ञ बताते हैं कि वैश्विक महामारी के बाद ऑनलाइन मोड में अधिक से अधिक कार्य संपन्न हो रहे हैं, जो आगे भी भविष्य में अब यूं ही चलते रहेंगे. ऐसे में ऑनलाइन वर्क में तकनीकी जानकार लोगों की आवश्यकता लगातार पड़ेगी. लिहाजा इस क्षेत्र में आगे भविष्य में रोजगार की असीम संभावनाएं देखने को मिलेगी.