झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी की अध्यक्षता में विधि व्यवस्था एवं कोविड-19 अंतर्गत एम.एच.ए के द्वारा निर्गत निर्देशों के अनुपालन से संबंधित समीक्षा बैठक

उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी की अध्यक्षता में डिस्ट्रिक्ट टास्क फोर्स की बैठक आहूत की गई, पल्स पोलियो अभियान, कोविड -19 वैक्सीनेशन पर किया गया विमर्श

जिला सभागार, जमशेदपुर में उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी सूरज कुमार की अध्यक्षता में डिस्ट्रिक्ट टास्क फोर्स की बैठक आहूत की गई जिसमें 17 जनवरी 2021 से शुरू होने वाले पल्स पोलियो अभियान व कोविड -19 वैक्सीनेशन के व्यवस्थित संपादन को लेकर विमर्श करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया। उपायुक्त द्वारा पल्स पोलियो अभियान के सफल संचालन को लेकर शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में सम्बन्धित एनजीओ का सहयोग लेते हुए अभियान के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन का निर्देश दिया गया। वहीं कोविड-19 वैक्सीनेशन हेतु रीजनल वैक्सीनेशन स्टोर डीएलओ के कार्यलय परिसर में स्थापित करने का निर्णय लिया गया। साथ ही सभी प्रखंडों में कोविड वैक्सीनेशन चेन हेतु व्यापक रणनीति बनाई गई ताकि एक भी फ्रंट लाइन वर्कर पहले फेज में वैक्सीनेशन से वंचित नहीं रहे। साथ ही स्वास्थ्य के क्षेत्र में आकांक्षी जिला इंडिकेटर्स पर विमर्श करते हुए सभी तरह के टीकाकरण और एएनसी रजिस्ट्रेशन में जो कमी है उसमें सुधार का निर्देश दिया गया। बैठक में सिविल सर्जन डॉ आर एन झा, एसीएमओ डॉ साहिर पाल, डीटीओ डॉ ए के लाल, डीआरसीएचओ डॉ बी एन ऊषा, विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि तथा टीएमएल, जुस्को के प्रतिनिधि और स्वास्थय विभाग के अन्य पदाधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

जिला सभागार,जमशेदपुर में उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी सूरज कुमार की अध्यक्षता में विधि व्यवस्था एवं कोविड-19 अंतर्गत एम.एच.ए के द्वारा निर्गत निर्देशों के अनुपालन से संबंधित विषय की समीक्षा की गई । इस अवसर पर उपायुक्त सूरज कुमार ने कहा कि कोरोना संक्रमण के रोकथाम हेतु यह अनिवार्य है कि सभी लोग दो गज यानी कम से कम छह फीट की दूरी एवं मास्क का प्रयोग अवश्य करें। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं सभी इंसीडेंट कमांडरों को उक्त निर्देश का अनुपालन किए जाने हेतु अभियान चलाने का निर्देश दिया गया साथ ही निर्देश दिया गया कि जो भी व्यक्ति कोविड-19 के मद्देनजर जारी किए गए दिशा निर्देशों का अनुपालन नहीं करते हैं उन्हें नोटिस दें । उपायुक्त श्री कुमार ने होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों के संबंध में कहा कि सभी इंसीडेंट कमांडर होम आइसोलेशन में रहने वाले व्यक्तियों से अंडरटेकिंग फॉर्म प्राप्त करें तथा नियमित रूप से उन पर नजर रखें जिससे की संक्रमण से आम लोग बच सकें। उपायुक्त ने कहा कि शादी समारोह में काफी लोग इकट्ठे हो रहे हैं वहीं एक ही कैंपस में तीन-तीन शादियां होने की भी सूचना है जिससे भीड़ काफी हो रही है, इस पर भी इंसिडेंट कमांडर को सख्ती से नियमों के अनुपालन कराने का निर्देश दिया गया। सभी इंसिडेंट कमांडर को कंटेनमेंट क्षेत्र चिन्हित करने को भी कहा गया साथ में ही नवंबर से अभी तक जिन लोगों पर प्राथमिकी किए गए हैं उनकी सूची संबंधित प्रपत्र में उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया । उपायुक्त ने एमएचए की गाइडलाइन का सख्ती से अनुपालन कराने का निर्देश सभी इंसीडेंट कमांडरों को दिया तथा सभी क्षेत्रों में एक एक घंटा प्रतिदिन सघन जांच अभियान चलाने का भी आदेश दिए। शादी समारोह में रात 10:00 बजे के बाद भी लोग लाउडस्पीकर तेज आवाज में बजाते हैं वैसे लोगों के ऊपर एफ आई आर दर्ज कराते हुए उनके लाउडस्पीकर को जप्त करने का निर्देश दिया गया। एसपी सिटी को निर्देश दिया कि पुलिस फोर्स को प्रशिक्षण देकर हर क्षेत्र में वीडियोग्राफी कराएं, जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं उन्हें चिन्हित करते हुए उन पर कार्रवाई करें। होटल, रेस्टोरेंट, मॉल पर विशेष ध्यान देने के लिए निर्देश दिया गया। उपायुक्त ने संबंधित क्षेत्र के प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि हाट बाजार के दिनों में स्वयं जाकर लोगों को जागरूक करें, नहीं मानने पर कार्रवाई भी करें। उपायुक्त ने कहा कि जो व्यक्ति दूसरे राज्य से जिले में आ रहे हैं उन पर दस दिनों तक नजर रखने तथा उनका टेस्ट कराना अनिवार्य है यह कार्य सभी इंसिडेंट कमांडर करना सुनिश्चित करेंगे। उपायुक्त श्री कुमार ने जिला नियंत्रण कक्ष के संबंध में अपर जिला दंडाधिकारी(विधि व्यवस्था) से जानकारी मांगी, जिस पर अपर जिला दंडाधिकारी के द्वारा बताया गया कि जिला नियंत्रण कक्ष व्यवस्थित रूप से संचालित किया जा रहा है, प्रत्येक दिन होम आइसोलेशन में रह रहे व्यक्तियों को फोन कर स्थिति की जानकारी प्राप्त की जाती है एवं उसे साइट पर अपलोड भी किया जाता है। उपायुक्त श्री कुमार के द्वारा विधि व्यवस्था से संबंधित विषय की समीक्षा की गई। पुलिस विभाग को निर्देश दिया गया कि वैसे क्षेत्र जहां पर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हुए हैं उन्हें चिन्हित कर जल्द से जल्द कैमरे लगवाना सुनिश्चित किया जाए जिससे कि क्राइम पर नियंत्रण में आसानी हो। उपायुक्त ने तीनों नगर निकाय के पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि जितने भी सब्जी मंडी हैं उन सभी के पास टॉयलेट बनाना सुनिश्चित करें।
बैठक में पुलिस अधीक्षक नगर सुभाष चंद्र जाट, अनुमंडल पदाधिकारी धालभूम नीतीश कुमार सिंह, निदेशक डीआरडीए सौरव कुमार सिन्हा, अपर जिला दंडाधिकारी(विधि व्यवस्था) नंदकिशोर लाल, एसीएमओ डॉ साहिर पाल, आईडीएसपी प्रभारी डॉ. असद, पुलिस उपाधीक्षक हेडक्वार्टर, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी रोहित कुमार, कार्यपालक दण्डाधिकारी प्रमोद राम एवं सविता टोपनो, अंचलाधिकारी अनुराग तिवारी एवं कामिनी कौशल लकड़ा तथा अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे