झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

उपायुक्त ने कल्याणकारी योजनाओं का किया निरीक्षण

पाकुड़ में कई तरह के जन कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही है, जिसका डीसी कुलदीप चौधरी ने औचक निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान कार्य में अनियमितता पाये जाने पर डीसी ने पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता से स्पष्टीकरण मांगा है, साथ ही एक पंचायत सचिव के वेतन

साथ ही एक पंचायत सचिव के वेतन बंद करने का आदेश दिया है.

पाकुड़: जिले में चल रहे जन कल्याणकारी योजनाओं का डीसी कुलदीप चौधरी ने औचक निरीक्षण किया. निरीक्षण के क्रम में कार्य में अनियमितता पाये जाने को लेकर पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता से स्पष्टीकरण मांगा गया, साथ ही एक पंचायत सचिव के वेतन बंद करने का आदेश दिया गया है.
जिला जनसंपर्क विभाग से दी गयी जानकारी के मुताबिक, बुधवार को डीसी कुलदीप चौधरी और डीडीसी अनमोल कुमार सिंह जिले के हिरणपुर प्रखंड में मनरेगा के तहत चल रहे बिरसा हरित ग्राम योजना, नीलांबर-पीतांबर जल समृद्धि योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना और स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण का निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान बरमसिया गांव में शौचालय निर्माण में बरती गयी लापरवाही को लेकर पेयजल स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता सुनील कुमार से स्पष्टीकरण मांग गया है, साथ ही प्रखंड स्तरीय अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है. निरीक्षण के दौरान डांगापाड़ा पंचायत में प्रधानमंत्री आवास योजना के लंबित कार्यो को शीघ्र पूरा करने का निर्देश पंचायत सचिव को दिया गया. इतना ही नहीं डांगापाड़ा पंचायत के दराजमाठ में मनरेगा के तहत मेढ़ निर्माण में बरती गयी लापरवाही और अनियमितता को लेकर पंचायत सचिव हिमायू कबीर के वेतन भुगतान पर रोक लगाने का आदेश बीडीओ उमेश कुमार स्वांसी को दिया गया है. डीसी ने कहा कि चलाए जा रहे इन योजनाओं का सीधा लाभ मजदूरों और लाभुकों को पहुंचाना ही उनका उद्देश्य है. अगर इसमें किसी प्रकार की लापरवाही या भुगतान पर रोक लगाने का आदेश बीडीओ उमेश कुमार स्वांसी को दिया गया है. डीसी ने कहा कि चलाए जा रहे इन योजनाओं का सीधा लाभ मजदूरों और लाभुकों को पहुंचाना ही उनका उद्देश्य है. अगर इसमें किसी प्रकार की लापरवाही या अनियमितता पायी गई तो संबंधित अधिकारी और कर्मी के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.