झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

तेलाभिषेक में 51 लीटर तिल का तेल एवं हवन में 11 किलो शुद्ध घी अर्पित किया गया ।

आंध्र भक्त श्री राम मन्दिरम, बिस्टुपुर में शनि त्रयोदशी के दिन आज 12 दिसम्बर को जमशेदपुर वासियो के कल्याण एवं सभी भक्तों के साढ़े साती एवं अढैया के दोष निवारण के लिये प्रत्येक वर्ष की भांति शनिदेव की तिल के तेल से तैलाभिषेक एवं नवग्रह होम कर पूर्णाहुति दी गई। सर्वप्रथम श्री राम मंदिर , बिस्टुपुर में स्थित शनिदेव के मंदिर के पुजारी पंडित श्री रवि कुमार शर्मा ,पंडित भारद्वाज शर्मा , पंडित सर्वेश्वर शर्मा ,पंडित सूर्या राव , ने सुबह 8 बजे से शुरू किये गए इस धार्मिक अनुष्ठान की शुरुआत नवग्रह की पूजा के साथ शनिदेव के तेलाभिषेकम से की गई , इसके उपरांत शनि सहस्रानामा-अर्चना, नवग्रह सहस्रानामा-अर्चना कर पूजा की गई,इसके उपरांत चतुष्ठी 64 देवताओ की आराधना की गई, इसके बाद शनिश्वरा हवन,नवग्रह हवन, मृत्युंजय हवन के उपरांत चंदन की लकड़ी, शुद्ध घी से तिल तेल से पूर्णाहुति की गई, इसके उपरांत भक्तों द्वारा काला तिल ,काला छाता,काला वस्त्र काला चप्पल, तिल एवं सरसों का तेल, रुपए दान दिया गया, इसके बाद पूरेहितों सभी भक्तों को आशीर्वचन दिया। सभी भक्तों ने हवन कुंड की प्रदक्षिणा कर प्रणाम किया, अंत मे सभी भक्तों के बीच प्रसाद वितरित किया गया। इस बात की इस कार्यक्रम में मंदिरम कमिटी के सभी पदाधिकारी एवं कार्यकारिणी सदस्य शामिल थे उक्त जानकारी उपाध्यक्ष सह प्रवक्ता जम्मी भास्कर ने दी