झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

तीन नक्सली गिरफ्तार, औद्योगिक कंपनियों के कर्मियों से मांगता था रंगदारी

कुणाल सारंगी

चतरा में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने कोल परियोजनाओं और औद्योगिक कंपनियों के कर्मियों से लेवी मांगने वाले तीन नक्सलियों को गिरफ्तार किया है. इन नक्सलियों के पास से पुलिस ने 7.65 बोर का एक देशी पिस्टल, दो जिंदा कारतूस, एक सिमकार्ड और लेवी मांगने में प्रयुक्त विभिन्न कंपनियों के तीन मोबाइल फोन बरामद किया है.

चतरा: कोयलांचल के टंडवा थाना क्षेत्र में संचालित कोल परियोजनाओं और औद्योगिक कंपनियों के कर्मियों को डरा-धमका कर लेवी वसूलने के फिराक में जुटे तीन जेपीसी नक्सलियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. तीनों झारखंड प्रस्तुति कमेटी के सुप्रीमो पुरुषोत्तम उर्फ बसंत गंझू के नाम पर टंडवा में कार्यरत एनटीपीसी के सहायक कंपनी स्टारकॉम इंफ्रा प्रोजेक्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के कर्मियों से फोन पर 10 लाख रुपये बतौर लेवी की मांग कर रहे थे. पुलिस ने तीनों को सिमरिया-टंडवा मुख्य पथ पर स्थित धनगड्डा से गिरफ्तार किया है. कंपनी के कर्मियों से फोन पर लेवी मांगने के मामले में गिरफ्तार तीन में से एक नक्सली उसी कंपनी में एचआर मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं. उसी के सह पर अन्य दो नक्सली कंपनी के अन्य कर्मियों से फोन पर लेवी की मांग कर रहे थे. एसपी ऋषभ झा ने बताया कि गिरफ्तार तीनों नक्सली जेपीसी संगठन के लिए काम कर रहे थे और लगातार कोल कंपनियों और औद्योगिक एजेंसियों के कर्मियों को फोन कर वर्क वैल्यू का तीन प्रतिशत या कम से कम दस लाख रुपये बतौर लेवी की मांग कर रहे थे, लेवी नहीं देने पर इनको गोली मारने और साइट पर नुकसान पहुंचाने की धमकी दे रहे थे.
एसपी ने बताया कि गिरफ्तार तीनों जेपीसी नक्सली वीरेंद्र यादव, मेघलाल यादव और शैलेश कुमार यादव उर्फ छोटे हजारीबाग जिला अंतर्गत कटकमदाग थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार शैलेश कुमार यादव उर्फ छोटे स्टारकॉम इंफ्रा प्रोजेक्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में ही एचआर मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं, गिरफ्तार जेपीसी नक्सलियों के पास से 7.65 बोर का एक देशी पिस्टल, दो जिंदा कारतूस, एक सिमकार्ड और लेवी मांगने में प्रयुक्त विभिन्न कंपनियों के तीन मोबाइल फोन बरामद किया गया है