झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

टाटा स्टील कंपनी में 72 घंटे ड्यूटी नहीं आए तो गेटपास हो जाएगा लॉक

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर:टाटा स्टील आयरन मेकिंग डिविजन की ओर से मंगलवार को सुमिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में कंपनी प्रबंधन ठेका कर्मचारियों की समस्याओं को सुनकर उसका समाधान करती है। कार्यक्रम में एक ठेकाकर्मी ने सवाल किया कि वे 72 घंटे ड्यूटी नहीं आने से उनका गेटपास लॉक हो जाता है ऐसा क्यों? इसका जवाब देतेे हुुए कंपनी के सेफ्टी चीफ वीके निराला ने बताया कि यदि कर्मचारी शहर से बाहर नहीं गए हैं और किन्हीं कारणों से 72 घंटे ड्यूटी नहीं आए हैं तो उनका गेटपास कोविड के सेफ्टी मानकों के तहत लॉक हो जाएगा।

संबधित ठेका कंपनी के सुपरवाइजर जब तक उनके गेटपास को अपडेट नहीं करेंगे, तब तक संबधित ठेकाकर्मी का गेटपास अनलॉक ही रहेगा। वहीं, निराला ने बताया कि यदि कोई कर्मचारी 15 दिनों के लिए झारखंड से बाहर गया था, तो उन्हें कोविड 19 को लेकर जारी दिशा-निर्देश व सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन होना पड़ेगा। कार्यक्रम में आयरन मेङ्क्षकग के वाइस प्रेसिडेंट उत्तम सिंह व टाटा वर्कर्स यूनियन के उपाध्यक्ष हरिशंकर सिंह सहित कई अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।