झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

स्वास्थ्य मंत्री, ने कोरोना संक्रमण रोकथाम एवं उपचार को लेकर जिले के वरीय पदाधिकारियों, चिकित्सकों के साथ किया बैठक, दिए आवश्यक दिशा निर्देश

कुणाल सारंगी

कोल्हान प्रमंडल में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले को देखते हुए इसके रोकथाम एवं उपचार को लेकर सरकार, स्वास्थ्य विभाग तथा जिला प्रशासन की क्या भूमिका होगी एवं इस सम्बंध में क्या कदम उठाए जाएंगे इसको लेकर आज जमशेदपुर परिसदन में स्वास्थ्य मंत्री, बन्ना गुप्ता की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुई। कोरोना संक्रमण रोकथाम एवं उपचार को लेकर भविष्य की कार्ययोजना पर विमर्श किया गया। मंत्री द्वारा क्वारेन्टीन सेंटर की बेहतर व्यवस्था, टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने, बेड की संख्या बढ़ाने समेत विभिन्न विषयों पर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। मंत्री ने कहा कि सरकार हर सम्भव प्रयासरत है कि लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाया जा सके तथा संक्रमितों को बेहतर चिकित्सीय सुविधा मिले।

मंत्री ने कहा कि कोविड-19 के मद्देनजर राज्य सरकार लगातार चिकित्सीय सुविधाओं का विस्तार कर रही है। मरीजों के लिए भोजन, साफ-सफाई तथा स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं को और बेहतर करने का प्रयास है।
बैठक में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने वर्तमान समय में हो रहे कोरोना टेस्टिंग को बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि जितना ज्यादा से ज्यादा टेस्ट बढ़ेगा हमलोग ज्यादा संक्रमण मरीजों के बीच पहुचेंगे और इलाज कर पाएंगे। उन्होंने बताया कि जल्द ही ट्रुनेट मशीन की संख्या बढ़ाई जाएगी ताकि ज्यादा टेस्टिंग हो सकें।
मंत्री ने उपायुक्त, पूर्वी सिंहभूम को निर्देश दिया कि यदि कोई भी अस्पताल मरीजों की इलाज नही करता है तो ऐसे अस्पताल पर कार्यवाई कर उसका लाइसेंस रद्द कर प्राथमिकी दर्ज करें। उन्होंने बताया कि अस्पताल सिर्फ मुनाफा का नही सोचे, उन्हें जिम्मेदारी से भागने नही देंगे।
मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि खबर मिली है कि आपातकाल में मेडिका अस्पताल बन्द करने की तैयारी में हैं। उन्होंने कहा कि इस विपदा की घड़ी में ये गलत है, उपायुक्त- पूर्वी सिंहभूम प्रबंधन को निर्देश जारी कर पूरे संसाधन को कोरोना के मरीजों की सेवा और इलाज में लगाने के लिए अधिग्रहण करें।उन्होंने बताया कि आपातकाल के बाद अस्पताल प्रबंधन भले जाए लेकिन अभी जनता की सेवा के समय उसे कर्तव्यों से भागने नही दिया जायेगा।
उन्होंने बताया कि संक्रमण बढ़ रहा है इसी के मद्देनजर भविष्य को ध्यान में रखते हुए जेआरडी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, सिदगोड़ा स्थित प्रोफेशनल कॉलेज, कदमा स्थित एक स्कूल समेत विभिन्न जगहों को चिह्नित कर आइसोलेशन वार्ड के रूप में परिवर्तित किया जा रहा है जहाँ मरीजों का इलाज किया जाएगा।बेड कम न हो इसलिए सरकार इसे वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर इस्तेमाल करेगी।
उन्होंने शहर के सामाजिक संस्थाओं से अपील की है कि मुश्किल के इस घड़ी में वे सामने आए और विभिन्न संस्थागत क्वारन्टीन केन्द्रों और आइसोलेशन वार्ड के सुविधाओं और रख रखाव के लिए सरकार की मदद करें।
उन्होंने बताया कि टीएमएच को प्लाज्मा थेरेपी के इलाज की अनुमति मिल गई हैं और जल्द ये इलाज की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी जबकि टाटा मोटर्स ने भी इच्छा जताई है इसलिए उनसे भी प्रस्ताव लिया जा रहा है। प्लाज्मा थेरेपी से इलाज होने की वजह से मरीज जल्द स्वस्थ होंगे। उन्होंने कोरोना से लड़कर स्वस्थ होने वाले मरीजों से प्लाज्मा दान करने का अनुरोध किया है।
बैठक में उपायुक्त सूरज कुमार, वरीय पुलिस अधीक्षक डॉ एम तमिल वणन, अपर उपायुक्त सौरव कुमार सिन्हा, कोल्हान प्रमंडल के तीनों जिले के सिविल सर्जन, टीएमएच के जीएम डॉ राजन चौधरी तथा अन्य चिकित्सक एवं पदाधिकारी शामिल हुए।