झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

सर्वोच्च न्यायालय में जमशेदपुर बार एसोसिएशन की शिकायत करने पर टाईपिस्ट के साथ मारपीट

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर। पुराना कोर्ट परिसर में बैठने वाले टाइपिस्ट केदारनाथ भारतीय ने अधिवक्ता श्रीराम दुबे एवं अन्य तीन की शिकायत सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश (सीजे), बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष एवं सचिव और झारखंड बार काउंसिल के अध्यक्ष तथा सचिव से की है। आरोप लगाया है कि 23 जुलाई को जब वे काम कर रहे थे, तब इन सभी ने आकर उनकी टेबुल कुर्सी पलट दी एवं कागजात फेंक दिया था। इससे पूर्व भी उनके साथ मारपीट की गई थी। भारतीय का आरोप है कि उन्होंने 20 जुलाई 2017 को सर्वोच्च न्यायालय से जमशेदपुर बार एसोसिएशन की लिखित शिकायत की थी। उसमें बताया कि पांच रुपए का कोर्ट फीस और 15 रुपए का अधिवक्ता कल्याण शुल्क कोष का टिकट लगाकर 100 रुपए में शपथपत्र, वकालतनामा और बेल बांड बेचा जा रहा है, जो कालाबाजारी है। इस पर सर्वोच्च न्यायालय ने संज्ञान लेते हुए बार काउंसिल ऑफ इंडिया को चिट्ठी लिखकर आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। उसी समय से उन्हें शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रतारित किया जा रहा है। इसलिए उन्होंने इस मामले में संज्ञान लेकर ऐसे अधिवक्ताओं पर आपराधिक मामला दर्ज कर न्यायोचित कार्रवाई करने का अनुरोध किया है।