झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

सरकारी बॉडीगार्ड के लिए बिल्डर ने चलवाई खुद पर गोली, गिरफ्तार शूटरों ने उगले सभी राज

कुणाल सारंगी

सरायकेला जिले के आदित्यपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत मंगलम सिटी के पास बीते 18 जुलाई को बिल्डर और प्रॉपर्टी डीलर संजय मोहंती के गाड़ी पर ताबड़तोड़ फायरिंग मामले में चौंकाने वाला तथ्य सामने आया है
पुलिस अनुसंधान में इस बात का खुलासा हुआ है कि बिल्डर ने सरकारी बॉडीगार्ड के डिमांड के साथ अपने व्यवसायिक विरोधियों को फंसाने के उद्देश्य से खुद पर गोलियां चलवाई थी. सरायकेला: 18 जुलाई को हुए बिल्डर पर हमले की घटना के बाद पुलिस ने लगातार मामले का अनुसंधान किया. इस बीच पुलिस ने बिल्डर पर गोली चलाने वाले कुख्यात अपराधियों को हिरासत में ले लिया, जहां अनुसंधान के क्रम में पकड़े गए अपराधियों ने पुलिस को बताया है कि आरोपी बिल्डर संजय मोहंती ने एक सोची समझी साजिश के तहत पहले शूटरों से संपर्क स्थापित किया और उन्हें एडवांस रकम चुकाई, जिसके बाद गोली चलाने की प्लानिंग की गई. इधर, पुलिस अनुसंधान में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं, जिसके बाद पुलिस को मामला संदिग्ध प्रतीत हुआ.
घटना के बाद जांच कर रहे पुलिस सूत्रों की मानें तो बिल्डर के जिस कार पर फायरिंग की गई थी. उसके पिछली सीट पर खोखा बरामद किया गया. इसके बाद पुलिस को संदेह हुआ कि गोली चलाने के बाद शूटर गाड़ी के अंदर बैठे थे. वहीं, बिल्डर ने पूर्व में पुलिस को बयान दिया था कि वह गाड़ी से जा रहा था. इसी क्रम में बदमाशों ने उनकी कार पर गोलियां चलाई, लेकिन पुलिस जांच में यह पता चला कि रुके हुए कार पर फायरिंग की गई थी.
पुलिस ने इस मामले में आरोपी बिल्डर संजय मोहंती के अलावा खरसावां के कुख्यात अपराधी शंकर, चंदन डे, बिल्डर के चालक संतोष चौहान और सहयोगी गोपी को हिरासत में लिया है. फिलहाल, पूछताछ की जा रही है. हालांकि, पुलिस ने अभी पूरे मामले की अधिकारिक पुष्टि नहीं की है. थाना प्रभारी से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि बिल्डर के इस नाटकीय मामले का पटाक्षेप हो चुका है और पुलिस जल्द ही आधिकारिक तौर पर पूरे मामले का खुलासा कर देगी