झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

समन्वय की मुख्यमंत्री से लॉकडाउन लगाने व दुकानदारों को रु 7500 प्रतिमा कोरोना काल तक देने की अनुशंसा

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर। समन्वय संस्था  के सचिव प्रदीप कुमार झा  ने आज झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को एक ट्वीट किया है। इसमें फैलते कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जमशेदपुर में 14 दिनों के संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की अपील की गई है। उनका कहना है कि पूर्वी सिंहभूम खासकर जमशेदपुर में तेजी से कोरोना का संक्रमण फैल रहा है।

हर दिन मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण अस्पतालों में भी बेड की कमी हो गई है। टेस्टिंग व्यवस्था भी पूरी तरह से चरमरा गई है, इसलिए शहर में लॉकडाउन जरूरी है। उन्होंने आगे कहाँ की समन्वय ने पहले लॉकडाउन की मांग की थी तो कई व्यवसासियों एवं आम जनता ने भी  इसका विरोध किया था। तब सहमति बनी थी कि सभी व्यवसायी सोशल डिस्टनसिंग का पालन करेंगे लेकिन कोई भी इस पर अमल नहीं कर रहा है और शहर के अधिकतर डॉक्टर व नर्सिंग स्टाफ यहाँ तक की सफाई कर्मी भी कोरोना संक्रमित है। जिसे कि जमशेदपुर में कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बढ़ गया है। अगर अभी लॉकडाउन नही लगाया गया तो हो सकता है, जमशेदपुर भारत का अगला वुहान बन जाये।

उन्होंने झारखंड सरकार से दुकानदारों के लिये निःशुल्क कोरोना जाँच करने की मांग की है। जिसे की कम्युनिटी ट्रांसमिशन रोका जा सके। आगे उन्होनेे सभी  दुकानदारों को 10 किलो चावल, 1 किलो दाल, 10 किलो आटा व 5 किलो आलु वितरित करने की मांग की है। साथ ही उन्होंने हर वह दुकानदार जिसकी लॉकडाउन से दुकानदारी प्रभावित हुई है, उन्हें जीविका उपार्जन के लिये रु 7500 प्रितिमाह देने की अनुशंसा कि है।

उन्होंने अपनी माँग से दुकानदारों को भी अवगत कराया है। जिसे दुकानदारों में हर्ष का माहौल है और अब वे भी लॉकडौन लगाने का समर्थन कर रहे है।