झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

शनिवार को शहर में खुलीं रहीं दुकानें, चैंबर ऑफ कॉमर्स ने सरकार से की लॉकडाउन की मांग

कुणाल सारंगी

पाकुड़ में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. बढ़ते संक्रमण को लेकर झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधियों ने सरकार से 15 दिनों के लिए पूर्ण रूप से लॉकडाउन की मांग की है. इधर व्यापारियों ने शनिवार को चैंबर की अपील की अनदेखी कर दुकानें खुली रखीं.

पाकुड़: जिले में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. इसे लेकर चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधि काफी चिंतित हैं.बीमारी के कारण जिले की स्थिति खराब होती देख चैंबर ऑफ कॉमर्स ने सरकार से 15 दिनों के लिए पूर्ण रूप से लॉकडाउन की मांग की है.
इससे पहले चैंबर ऑफ कॉमर्स ने झारखंड के सभी जिलों में हफ्ते में तीन दिन शुक्रवार, शनिवार और रविवार को व्यपारियों को स्वेच्छा से अपनी दुकाने बंद रखने की अपील की थी, जिसके बाद शुक्रवार को पाकुड़ में अधिकांश दुकानें बंद रहीं, लेकिन शनिवार को चैंबर ऑफ कॉमर्स की अपील को दुकानदार नहीं माने. शनिवार को अधिकांश दुकानें खुली रहीं और अन्य दिनों की तरह बाजार में लोगों की आवाजाही सामान खरीदने के लिए लगी रही.
चेम्बर ऑफ कॉमर्स के जिला सचिव संजीव कुमार खत्री ने बताया कि व्यावसायियों और दुकानदारों से स्वेच्छा से हफ्ते में तीन दिन अपनी दुकानें बंद रखने की अपील की गई थी. शुक्रवार को अधिकांश कारोबारियों ने सहयोग किया, लेकिन शनिवार को अधिकांश दुकानें खुली रहीं, जिससे बाजार में लोगो की भीड़ देखी गई. बढ़ती भीड़ को देखकर कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बढ़ गई है.
ऐसी स्थिति में चैंबर ऑफ कॉमर्स पाकुड़ शाखा ने सरकार से मांग की है कि 15 दिनों के लिए पूर्ण रूप से लॉकडाउन करे और अगर यह संभव नहीं है तो कम से कम दुकान खुलने और बंद होने का एक समय तय कर दे, ताकि बेवजह लोगों की भीड़ न उमड़े और कोरोना संक्रमण की चेन टूटे. अगर सरकार ने इस पर समय रहते ध्यान नहीं दिया तो आने वाले समय मे जिले में भयावह स्थिति उत्पन्न हो सकती है.