झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं सदर अस्पताल में रैपिड एंटीजन तथा ट्रू-नैट के माध्यम से कोरोना जांच की सुविधा बढ़ाई गयी, अधिक-से-अधिक संख्या में हो जांच, जिलाधिकारी ने दिए निर्देश।

Ambuj Kumar Kunal Sarangi width Anshar Khan ADJ Kamlesh Jitendra Rais Rozvi Rishi Mishra Rina Gupta

लखीसराय| अजय कुमार: कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु संदिग्ध मरीजों की जांच का दायरा बढ़ा दिया गया है। सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं सदर अस्पताल में रैपिड एंटीजन एवं ट्रू-नैट मशीन के द्वारा कोरोना जांच की सुविधा मुहैया कराई गई है।
आज इस बाबत समीक्षा के क्रम में जिला पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने निर्देश देते हुए कहा कि कोई भी कोरोना वायरस से संक्रमण के संदिग्ध मरीज अपना जांच संबंधित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अथवा सदर अस्पताल करा सकते हैं।
उन्होंने अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि लॉकडाउन के दौरान निर्धारित अवधि खुलने वाले दुकानों के दुकानदारों की भी जांच सुनिश्चित कराएं। उन्होंने कहा कि सभी दुकानदार कोरोना जांच करा कर उसका सर्टिफिकेट अस्पताल से प्राप्त करेंगे एवं निरीक्षण के दौरान आवश्यकता पड़ने पर उसे दिखाएंगे।
उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश देते हुए कहा कोरोना की जांच कराने वाले सभी संबंधित व्यक्ति को संबंधित रिपोर्ट का सर्टिफिकेट तत्काल उपलब्ध कराएं। साथ ही लक्ष्य के अनुसार कोरोना जांच से संबंधित आंकड़ों को वेबसाइट पर प्रत्येक दिन अपलोड कराएं, इसमें किसी प्रकार का विलंब कार्य के प्रति लापरवाही मानी जाएगी एवं कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसे तत्परता से पूर्ण कराएं।
जिलाधिकारी ने सभी सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी एवं थाना प्रभारी को निर्देश देते हुए कहा कि अपने संबंधित इलाके में कोरोना वायरस के संक्रमण के संदिग्ध लोगों की जांच हेतु संबंधित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में निश्चित रूप से भेजें। अपने अधीनस्थ पंचायत स्तरीय कर्मियों के माध्यम से कोरोना की जांच अधिक-से-अधिक संख्या में कराने हेतु किये जा रहे कार्य का सघन अनुश्रवण करें।
उन्होंने पंचायती राज संस्था के प्रतिनिधियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों की जांच में सकारात्मक सहयोग करें एवं ऐसे सभी जरूरतमंद लोगों को स्वास्थ्य केंद्र तक ले जाएं ताकि उनकी जांच कराई जा सके। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु सतर्कता ही सुरक्षा है। जन सहयोग एवं जनभागीदारी के माध्यम से ही कोरोना वायरस के संक्रमण को कम किया जा सकता है।

About Post Author