झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

सांसद विधुत वरण महतो जमशेदपुर की अध्यक्षता में दिशा की बैठक आयोजित की गई

जिला सभागार जमशेदपुर में सांसद विद्युत वरण महतो की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं अनुश्रवण समिति (दिशा) की बैठक सम्पन्न हुई। इस अवसर पर विधायक जमशेदपुर पूर्वी सरयू राय, विधायक घाटशिला रामदास सोरेन, विधायक पोटका संजीव सरदार, उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी सूरज कुमार, राज्य महिला आयोग की अध्यक्षा कल्याणी शरण, विधायक बहरागोड़ा/जुगसलाई/जमशेदपुर पश्चिम के प्रतिनिधि, जिला परिषद अध्यक्ष बुल्लू रानी सिंह, जिला परिषद उपाध्यक्ष राजकुमार सिंह, उप विकास आयुक्त परमेश्वर भगत, अपर उपायुक्त प्रदीप प्रसाद मौजूद थे।
बैठक में केंद्र सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के कार्य प्रगति की समीक्षा करते हुए ‘दिशा’ के पिछले बैठक में लिए गए निर्णयों के अनुपालन प्रतिवेदन की बिंदुवार समीक्षा की गई। उपायुक्त द्वारा सम्बन्धित पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया कि जिन गांवों को विद्युत आपूर्ति से आच्छादित किया जा चुका है तथा सरकारी भवनों यथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र/स्कूल/आंगनबाड़ी केंद्र आदि में बिजली नहीं है वैसे गांवों के सरकारी भवनों को 01-31 जनवरी 2021 तक जिला पंचायती राज पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी/जिला शिक्षा अधीक्षक/जिला समाज कल्याण पदाधिकारी आपस मे समन्वय स्थापित कर अभियान चलाते हुए बिजली से आच्छादित करना सुनिश्चित करेंगे। विधायक पोटका द्वारा 4 टोला में विधुतीकरण करने की मांग की गई। उपायुक्त द्वारा सभी विधायकों से वैसे 15-15 गांवों की सूची उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया जहां प्राथमिकता के आधार पर विधुतीकरण किया जाना है। घाटशिला विधायक द्वारा घाटशिला में ट्रांसफर्मर रिपेयरिंग वर्कशॉप शुरू करने की बात कही गई जिसपर उपायुक्त ने आकांक्षी जिला फेलो को इस संबंध में प्रोजेक्ट की रूपरेखा बनाने का निर्देश दिया गया। घाटशिला विधायक द्वारा सबर बस्ती के सूची की मांग की गई जिसे मौके पर ही उपलब्ध करा दिया गया। विधायक जमशेदपुर पूर्वी ने सभी पदाधिकारियों को दिशा की बैठक को गम्भीरता से लेते हुए प्रश्न की प्रकृति के अनुसार अनुपालन प्रतिवेदन समर्पित करने का निर्देश दिया गया। समीक्षा के क्रम में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्ट्रीट लाइट हेतु मीटर लगाकर बिजली शुल्क वसूलने की व्यवस्था विकसित करने का निर्देश दिया गया। उपायुक्त द्वारा जनप्रतिनिधियों से अनुरोध किया गया कि वैसे क्षेत्र उनके संज्ञान में हैं जहां पोल के जगह बांस से बिजली ली गयी है तो इसकी सूची उपलब्ध कराएं ताकि यथोचित कार्रवाई की जा सके। जिला परिषद अध्यक्ष/उपाध्यक्ष ने पाइपलाइन बिछाने तथा बिजली तार हेतु सड़क में किए गए गड्ढों के सुदृढ़ीकरण कराने की बात कही। विधायकों ने प्रतिमाह बिजली शुल्क वसूलने की बात कही ताकि जन साधारण को बिजली शुल्क देने में असुविधा नहीं हो। निर्माणाधीन विद्युत शक्ति उप केंद्र निचितपुर पोटका तथा ऊपर पावडा घाटशिला को जल्द पूर्ण करने का निर्देश दिया गया। साथ ही सुरदा ग्रिड में ट्रांसमिशन का कार्य जल्द पूरा करने का निर्देश दिया गया।
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की समीक्षा के क्रम में सांसद जमशेदपुर द्वारा आसनबनी चौक से पीलामुड़ा तक सड़क निर्माण के सम्बंध में पूछा गया, कार्यपालक अभियंता ग्रामीण विकास विभाग के प्रतिवेदन पर असंतोष जाहिर करते हुए उक्त सड़क को प्राथमिकता के आधार पर वरीय पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए पूर्ण कराने का निर्देश दिया गया
एससी/एसटी बहुल मांझी बस्ती में पेयजल योजना के क्रियान्वयन को लेकर कहा गया कि खनन क्षेत्र पड़ता हो तो DMFT से पेयजल समस्या का समाधान सुनिश्चित करें। सांसद आदर्श ग्राम में मार्च माह तक पेयजल योजना को पूर्ण करने का निर्देश दिया गया।
बैठक में निदेशक डीआरडीए सौरव कुमार सिन्हा, जिला योजना पदाधिकारी अजय कुमार, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी रोहित कुमार, कार्यपालक अभियंता पेयजल एवं स्वच्छता विभाग, कार्यपालक अभियंता आरईओ, कार्यपालक अभियंता विद्युत, कार्यपालक अभियंता पथ निर्माण विभाग तथा अन्य विभागों के पदाधिकारी उपस्थित थे