झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

सांसद बीडी राम ने सदन में रखी पलामू-गढ़वा में उद्योग स्थापना की मांग, कहा- रोजगार से दूर होगी नक्सल समस्या

सांसद बीडी राम ने गढ़वा और पलामू जिले की समस्याओं को रखा. उन्होंने कहा कि युवाओं को नक्सल संगठन से जुड़ने से रोकने और बेरोजगारी को समाप्त करने के लिए उद्योग-धंधा लगाया जाए.

गढ़वा: पलामू के सांसद बीडी राम ने गढ़वा और पलामू जिले में युवाओं को नक्सल संगठन से जुड़ने से रोकने और इन दोनों जिलों में बड़े पैमाने पर व्याप्त बेरोजगारी को समाप्त करने के लिए उद्योग-धंधे लगाने की मांग लोकसभा में की है.
सांसद ने सदन के माध्यम से गढ़वा और पलामू जिले की मुख्य पीड़ा को पूरे देश के सामने रखा. उन्होंने सदन को जानकारी देते हुए कहा कि दोनों जिले अत्यंत पिछड़े हैं. रोजगार का अभाव है. नक्सली इसका फायदा उठाते हुए भोले भाले युवक-युवतियों को नक्सल संगठन से जोड़ लेते हैं. उनका आर्थिंक, शारीरिक और सामाजिक शोषण करते हैं. गलत दिशा में डाइवर्ट कर उन्हें समाज का दुश्मन बना देते हैं. बेरोजगारी के कारण लाखों युवा रोजगार की टोह में हर साल दूसरे प्रदेशों में पलायन करने को मजबूर हो जाते हैं.
सांसद बीडी राम ने सदन को महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए कहा कि गढ़वा और पलामू देश के 112 आकांक्षी जिले में शामिल हैं. यहां किसी प्रकार के एक भी उद्योग धंधे स्थापित नहीं है. हजारों मजदूरों को रोजगार देने वाला जपला सीमेंट फैक्ट्री कई दशक से बंद पड़ा है.
सांसद बीडी राम ने जपला सीमेंट फैक्ट्री को पुनर्जीवित करने या उस विशाल भूभाग पर रेलवे का एक्सेल प्लांट लगाने या अन्य कोई उद्योग लगाने सहित दोनों जिलों में उद्योग धंधे लगाकर नक्सली गतिविधियों और बेरोजगारी को समाप्त करने की मांग की.