झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

रिम्स में ठग मालामाल, परिजन परेशान, प्रबंधन अनजान

रांची के रिम्स में इन दिनों मरीज और मरीज के परिजन ठगी का शिकार लगातार हो रहे हैं. हाल में ही दो मरीजों के साथ ठगी का मामला सामने आया है. गंभीर रूप से इलाजरत दो मरीज के परिजनों से ठगों ने झूठी दिलासा देते हुए पैसों की ठगी की है. इस बारे में रिम्स प्रबंधन फिलहाल कोई भी बयान देने से बच रही है.

रांचीः राज्य के सबसे बड़ा अस्पताल रिम्स में इन दिनों मरीज और मरीज के परिजन ठगी का शिकार लगातार हो रहे हैं. मामले को लेकर रिम्स प्रबंधन कुछ करने में सक्षम नहीं दिख रही है तो वहीं पुलिस प्रशासन की ओर से भी कोई गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है. जबकि दो मरीजों के साथ ठगी का एक ताजा मामला सामने आया है. गंभीर रूप से इलाजरत दो मरीज के परिजनों से ठगों ने झूठी दिलासा देते हुए पैसों की ठगी की है.
आर्थिक रूप से कमजोर मरीज राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स का ही रुख करते हैं और वे यह सोचकर इस अस्पताल में आते हैं कि यह सरकारी अस्पताल उनके लिए बेहतर इलाज करेगा, लेकिन गरीब मरीज हर दिन रिम्स में लूट का शिकार हो रहे है. दलालों ने कैंसर के मरीज से 9,500 की ठगी कर ली है. देवघर जिले के रहने वाली 35 वर्षीय मंजू देवी पिछले तीन महीने से ऑकोलॉजी विभाग में ब्रेस्ट कैंसर का इलाज करवा रही है. इस मरीज से जल्द इलाज कराने का भरोसा दिलाते हुए ठगों ने इनसे 9000 से अधिक रुपयों की ठगी कर लिया है. वहीं 70 वर्षीय एक बुजुर्ग के परिजन भी ठगी का शिकार हुए हैं. बुंडू के रहने वाले धरम महतो पिछले एक महीने से आंख का इलाज इसी अस्पताल में रहकर करा रहे थे. मरीज के परिजनों से दलालों ने कहा कि इलाज जल्द हो जाएगा और उनसे करीब 2,500 रुपये और 12,000 रुपये कीमत की 2 मोबाइल फोन उड़ा ले गए. उनका कहना था कि डॉक्टर की फीस भी लगेंगे और ब्लड के लिए भी रुपए ब्लड बैंक में लगता है. भोले-भाले ग्रामीण क्षेत्र के मरीज के परिजन उनकी बातों में आ गए और रुपये उन्हें दे दिया. उन्हें क्या पता था कि राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में उनके साथ ठगी हो रही है.
इस मामले को लेकर जब रिम्स प्रबंधन ने पूरे मामले की जांच करने के बाद ही कुछ कह पाने की बात कही है. जबकि आए दिन रिम्स में मरीज के परिजनों के साथ दलालों की ओर से ठगी की जा रही है. मामले पर स्वास्थ्य विभाग को जल्द से जल्द ध्यान देना होगा, नहीं तो स्थिति और भयावह होगी.