झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

रेलवे के रास्ता बंद करने पर भड़के ग्रामीण, पटरी पर बैठ किया प्रदर्शन

बोकारो के महेशपुर गांव में रेलवे ट्रेक के रास्ते को बंद करने पर ग्रामीणों ने विरोध किया और रेलवे ट्रेक पर बैठकर प्रदर्शन किया. जिस कारण अधिकारियों को काम बंद करना पड़ा

बोकारो: जिले के महेशपुर गांव में शनिवार को रेल पथ बोकारो के वरिष्ठ अभियंता मनोज कुमार पहुंचे. इस दौरान उन्होंने रेलवे ट्रेक से पार करने वाले रास्ते को बंद करने की बात कही, जिसके बाद ग्रामीणों ने इसका विरोध किया और ट्रैक पर बैठकर प्रदर्शन किया.
ग्राम विकास समिति के अध्यक्ष हसनुल्ला अंसारी ने कहा कि महेशपुर गांंव से शहर को जोड़ने के लिए यह एकमात्र रास्ता है. उन्होंने कहा कि हमारे पुराने रास्ते को काटकर रेलवे ट्रेक बिछा दिया गया. 2007 में रेलवे की ओर से यह कहा गया कि यह रास्ता अवैध है तब से रेलवे की ओर से समय-समय पर रास्ता बंद करने की बात हो रही है. रास्ता बंद होने से लगभग 2000 लोगों की आबादी प्रभावित होगी.
वहीं, रेल पथ बोकारो के वरिष्ठ अभियंता मनोज कुमार ने कहा कि यह रास्ता सही नहीं है, लेकिन महेशपुर के लोगों का आने जाने का एक यही रास्ता है. इसके साथ ही कहा कि ऊपर के अधिकारी के आदेश अनुसार हम यहां पर आए थे. इस रास्ते से पब्लिक का आना जाना होता है किसी तरह की कोई दुर्घटना नहीं हो इसके लिए रास्ता बंद करना था.