झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

रेल कर्मचारियों की बढ़ी परेशानी, रिटायरमेंट से पहले रेलवे करेगी कर्मचारियों को सेवानिवृत्त

रेलवे  ने अपने कर्मचारियों को रिटायरमेंट से पहले ही सेवानिवृत्त करने का मन बनाया है. रेल मंत्रालय ने इस दिशा में कार्रवाई शुरू कर दी है. रेलवे बोर्ड ने ऐसे कर्मचारियों की कार्य संबंधी विवरण की मांग की है. ग्रुप सी के कर्मचारी इस दायरे में हैं. जुलाई में यह पत्र धनबाद रेल मंडल को भी प्राप्त हुआ था.
धनबाद: रिटायरमेंट के चार-पांच साल शेष बचे रहने के पहले ही रेल कर्मचारियों को सेवानिवृत्त होना पड़ सकता है. रेल मंत्रालय ने इस दिशा में कार्रवाई शुरू कर दी है. रेलवे बोर्ड ने ऐसे कर्मचारियों की कार्य संबंधी विवरण की मांग की है. ग्रुप सी के कर्मचारी इस दायरे में हैं. रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल को एक पत्र जारी करते हुए 9 सितंबर तक ऐसे कर्मचारियों की सूची की मांगी है. जुलाई में यह पत्र धनबाद रेल मंडल को प्राप्त हुआ था. वैसे कर्मचारियों को चिन्हित कर उनके काम करने का तरीका, कार्य कुशलता और उनके योगदान की बोर्ड के ओर से समीक्षा की जाएगी. इस पत्र ने कर्मचारियों की बेचैनी बढ़ा दी है.
रिटायरमेंट का समय नजदीक आने के बाद कर्मचारियों में यह धारणा बन जाती है कि अब किसी तरह चार पांच साल बिताना है. रेलवे भी यह बात मानती है कि इस दौरान कर्मचारियों में कार्य क्षमता पहले की अपेक्षा कम हो जाती है. यही वजह है कि रेलवे ने कर्मचारियों को रिटायरमेंट से पहले ही सेवाविवृत्त करने का मन बनाया है. समीक्षा के बाद कार्य कुशल लोगों को रखा जाएगा और कार्य मे सुस्ती बरतने वाले को सेवानिवृत्त किया जाएगा.