झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार विजेता इशिता डे को जमशेदपुर रोटरी क्लब ने किया सम्मानित

रोटरी क्लब ऑफ जमशेदपुर ने रविवार को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार विजेता शिक्षिका इशिता डे को सम्मानित किया। बतौर मुख्यातिथि पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी ने इशिता डे सम्मान पत्र व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर रोटरी क्लब ऑफ जमशेदपुर के अध्यक्ष डीएन जेना, पूर्व अध्यक्ष ज्ञान तनेजा व पूर्व अध्यक्ष शरद चंद्रन उपस्थित थे। मौके पर पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि शिक्षिका इशिता डे ने जमशेदपुर समेत पूरे राज्य का नाम रौशन किया है, हम सबको उन पर गर्व है। आज की पीढ़ी के शिक्षकों को इस पुरस्कार से प्रेरणा मिलेगी। किसी भी समाज का सुखद भविष्य उसके शिक्षकों की गुणवत्ता पर निर्भर करता है। डी एन जेना ने इशिता डे को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएँ दी और कहा कि पूरा रोटरी परिवार उनके इस उपलब्धि की प्रशंसा करता है। जमशेदपुर के स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षक शिक्षिकाओं के लिए इशिता डे प्रेरणा पात्र हैं। ज्ञान तनेजा ने इस मौक़े पर शिक्षिका इशिता को पुस्तकें भेंट की। इस वर्ष कोविड संकट के कारण ये पुरस्कार दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में न होकर ज़िला मुख्यालयों में ही आयोजित हुए। झारखंड से तीन शिक्षकों को यह पुरस्कार मिला। जमशेदपुर की इशिता डे, सिमडेगा के स्मिथ कुमार सोनी व बोकारो की निरुपमा कुमारी को इस वर्ष राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार। इशिता डे एग्रीको स्थित तारापोर स्कूल की वाईस प्रिंसिपल हैं।