झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

राष्ट्रीय बाल आयोग तक पहुंचीं थीम पार्क गैंगरेप की चींख

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर बिरसानगर निवासी नाबालिग संग बुधवार को घोड़ाबाँधा के थीम पार्क में हुई विभत्स दुष्कर्म की चीख राज्य पुलिस मुख्यालय सहित राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग तक पहुंचीं है। गुरुवार सुबह पूर्व विधायक सह भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने मामले को निंदनीय और दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए इसकी तीव्र आलोचना किया। उन्होंने मामले की जानकारी ट्वीट करते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो सहित सूबे के मुख्यमंत्री से नाबालिग पीड़िता को न्याय दिलाने का अपील किया। कहा कि झारखंड में राज्य बाल आयोग निष्क्रिय पड़ी है, ऐसे में राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग से उन्होंने हस्तक्षेप कर पीड़िता को न्याय सुलभ कराने का आग्रह किया। विदित हो कि घोड़ाबाँधा थीम पार्क में गैंग रेप की यह दूसरी बड़ी वारदात है। इससे पूर्व भी वर्ष 2011 में घूमने आये एक युगल संग मारपीट कर युवकों ने युवती संग दुष्कर्म किया था। इसपर चिंता ज़ाहिर करते हुए पूर्व विधायक सह भाजपा प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और राज्य पुलिस महानिदेशक से सूबे की सार्वजनिक स्थानों सहित सभी पार्कों की सेफ़्टी और सिक्युरिटी ऑडिट कराने का सुझाव दिया है ताकि ऐसे वारदातों पर अंकुश संभव हो। इधर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी की ट्वीट पर तत्परता दिखाते हुए राज्य पुलिस मुख्यालय ने भी संज्ञान लिया है। प्रभारी डीजीपी एमवी राव के निर्देश पर पुलिस मुख्यालय ने जमशेदपुर के एसएसपी को इस मामले में अविलंब कठोरतम कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। वहीं जमशेदपुर पुलिस की ओर से जानकारी दी गई कि मामले में बिरसानगर थाना में कांड संख्या 76/2020 दर्ज़ करते हुए घटना में शामिल चार अभियुक्तों की गिरफ्तारी कर ली गई है जिनके विरुद्ध अग्रतर क़ानूनी कार्रवाई संचालित होगी।