झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

रांची रेल मंडल के बीस कर्मचारियों को मिला सम्मान लॉकडाउन के दौरान बेहतर काम करने वाले

कुणाल सारंगी

लॉकडाउन के दौरान बेहतर काम करने वाल कर्मचारियों को कार्मिक विभाग ने सम्मानित किया. इसके तहत बीस रेलकर्मियों को सम्मानित किया गया. डीआरएम नीरज अम्बष्ठ ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को पुरस्कृत किया कार्यक्रम के दौरान सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन किया गया.

रांची: लॉकडाउन अवधि में उल्लेखनीय कार्य करने वाले कार्मिक विभाग के बीस रेलकर्मियों को सम्मानित किया गया. डीआरएम नीरज अम्बष्ठ ने कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र और नगद राशि देकर पुरस्कृत किया. कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर मंडल के कार्मिक विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों ने स्वेच्छा से 31 मार्च से 10 मई तक प्रतिदिन विभिन्न स्थानों पर जरूरतमंद लोगों के बीच भोजन वितरित किया. इस कार्य में मंडल के वाणिज्य विभाग, रेल सुरक्षा बल, आई आरसीटीसी और भारत स्काउट एंड गाइड के सदस्यों ने अहम योगदान किया
पुरस्कार पाने वाले में उदय कुमार, हेम लाल लकड़ा, एमपी गुप्ता, राजन कुमार, जितेंद्र चौधरी, असीम राय, ओंकार सिंह, हरेंद्र कुमार, रवि तिर्की, संजय कुमार चौरसिया, दीपक कुमार, मनोज कुमार झा, सुनील उरांव, मुकेश कुमार, रवि राजा, अनुपम भारती, सुधा सुमन बाखला, दिनेश राय, नीता मुंडू और जितेंद्र लोहरा के नाम शामिल है. इस अवसर पर वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक सह मुख्य जनसंपर्क अधिकारी नीरज कुमार, वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी माणिक शंकर समेत अन्य रेलवे अधिकारी उपस्थित थे.
डीआरएम नीरज अम्बष्ठ ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को पुरस्कृत किया. कार्यक्रम के दौरान सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन किया गया. इसके तहत परिचालन प्रबंधक सह मुख्य जनसंपर्क अधिकारी के अधीन वरिष्ठ आशुलिपिक सौमेन मंडल, गूड्स गार्ड हटिया के संतोष कुमार और स्टेशन अधीक्षक बकसपुर के सतीश चन्द्र नायक को एंप्लॉय ऑफ द मंथ से सम्मानित किया गया. रांची मंडल से परिचालित श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से संबंधित पत्राचार निष्पादन, राज्य सरकार और रांची मंडल के मध्य निर्धारित समय में महत्वपूर्ण कार्य सौमेन मंडल ने किया था
जिसके बाद श्रमिक ट्रेनों के आगमन और प्रस्थान को निर्बाधित रूप से परिचालित किया जा सका. इसके अतिरिक्त लॉकडाउन के दौरान उन्होंने मुख्यालय और मंडल के बीच बेहतर समन्यवय स्थापित कर पत्राचार किया.
वहीं गुड्स गार्ड हटिया के संतोष कुमार ने ड्यूटी के दौरान रांची और नामकुम स्टेशन के बीच माल गाड़ी के एक डब्बे से धुंआ निकलते देखा. इसके बाद उन्होंने मामले की जानकारी स्टेशन मास्टर को दी, जिसके बाद नामकुम स्टेशन में माल गाड़ी को रोक कर जांच कर ट्रेन से डब्बे को हटाने के बाद रवाना किया गया. उनकी सतर्कता से बड़े हादसे को टाला जा सका. एक और मामले में स्टेशन अधीक्षक बकसपुर सतीश चंदन नायक शिफ्ट ड्यूटी में तैनात थे. इस दौरान माल गाड़ी बकसपुर स्टेशन से लगभग 6.35 बजे थ्रू सिगनल पर पास कर रही थी. इसी समय स्टेशन अधीक्षक ने ट्रेन के 23वें डब्बे से असामान्य आवाज सुनी, जिसके बाद इसकी सूचना उन्होंने तुरंत सेक्शन कंट्रोल और पोकला स्टेशन को दी. पकरा स्टेशन पर गाड़ी रोक कर जांच कर समस्या का समाधान कर ट्रेन को रवाना किया गया.