झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

राम मंदिर भूमि पूजन पर भाजपा गोलमुरी मंडल ने कारसेवक का किया सम्मान।

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर: भारतीय जनता पार्टी गोलमुरी मंडल ने राम मंदिर निर्माण को लेकर 1992 में अयोध्या कूच करने वाले कारसेवक का सम्मान किया। बुधवार को गोलमुरी मेन रोड स्थित पार्टी कार्यालय में मंडल अध्यक्ष प्रोबिर चटर्जी राणा के नेतृत्व में वर्ष 1992 में राम मंदिर निर्माण के संघर्ष व विवादित ढांचा ध्वस्त करने में अग्रणीय रूप से सक्रिय भूमिका निभाने वाले कारसेवक भाजपा कार्यकर्ता टुइलाडुंगरी निवासी अमोद सिंह को सम्मानित किया गया। इस दौरान पूर्व महानगर अध्यक्ष दिनेश कुमार, मिथिलेश सिंह यादव एवं खेमलाल चौधरी द्वारा केसरिया साफा, अंगवस्त्र, फूलमाला पहनाकर अयोध्या में बनने वाले श्रीराम मंदिर की तस्वीर वाली स्मृति चिह्न भेंटकर उनके योगदान के लिए आभार प्रकट किया गया। इस दौरान अमोद सिंह ने 6 दिसम्बर 1992 में विवादित ढांचा ध्वस्त करने अौर राममंदिर निर्माण की यात्रा का वृतांत सुनाते हुए बताया कि देश के कोने-कोने से राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ व विश्व हिंदू परिषद सहित राम भक्तों का जत्था अयोध्या के लिए निकल पड़ा था। रास्ते की रुकावटें लाठी चार्ज समेत सभी बाधाओं के बावजूद राम भक्तों के अंदर जो अदम्य साहस, जोश उत्साह था, उसकी आग कभी बुझ न सकी। सैकड़ो वर्षों के संघर्ष, त्याग व बलिदान के बाद प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर के शिलान्यास की शुभ घड़ी आ गयी।

वहीं, पूर्व महानगर अध्यक्ष दिनेश कुमार ने बताया कि राम मंदिर आंदोलन में अग्रणीय भूमिका निभाने वाले गोलमुरी के भाजयुमो अध्यक्ष रहे अमोद सिंह का योगदान युवाओं के लिए प्रेरणाश्रोत है। भारतीय सनातन संस्कृति के उच्चतम आदर्श प्रभु श्रीराम के मंदिर निर्माण का यह ऐतिहासिक दिन सभी भारतवासियों के लिए भावुक और गौरवान्वित कर देने वाला क्षण है।

इस दौरान पूर्व जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष दिनेश कुमार, मंडल अध्यक्ष प्रोबिर चटर्जी राणा, मिथिलेश सिंह यादव, खेमलाल चौधरी, अप्पा राव, अजय सिंह, अशोक सामंत, सरस्वती साहू, सीनू राव, मुकेश चौधरी, प्रेम झा, पप्पू उपाध्याय, अमिश अग्रवाल, सुदीप दास, सतीश शर्मा, रंजीत गुप्ता, सतीश सिंह, बिनोद गुप्ता, दीपक मुखर्जी, रवींद्रनाथ घोष, जयदीप मुखर्जी, नरेंद्र सिंह, दीपक प्रताप सिंह समेत अन्य कई लोग उपस्थित थे।