झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

राकेश्वर पांडेय के छोटे भाई की मृत्यु के बाद कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव पाया गया

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर। प्रख्यात मजदूर नेता व इंटक के प्रदेश अध्यक्ष राकेश्वर पांडे के छोटे भ्राता दिवाकर पांडे का आज भुइयांडीह स्वर्णरेखा बर्निंग घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। वे पिछले 15 दिनों से कोविड बीमारी के कारण सांस लेने की तकलीफ से पीडित थे।

इलाज के क्रम में कल देर रात उनका लगभग रात्रि 8:30 बजे टीएमएच के सीसीयू मैं 52 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। वे पिछले कई दिनों से वेंटिलेटर पर थे, वह पहले से ही शुगर एवं ब्लड प्रेशर की बीमारी से पीड़ित थे,
वे नूवोको ( पूर्व में लाफार्ज ) सीमेंट प्लांट में कार्यरत थे। अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए हैं।

आज लगभग 11:00 बजे एग्रिको स्थित उनके आवास से भुईयाडीह स्वर्णरेखा बर्निंग घाट के लिए अंतिम यात्रा निकली।

जिसमें मुख्य रुप से राकेश्वर पांडे एवं परिवार के अन्य सदस्यों समेत कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व पार्षद अंबुज कुमार, जमशेदपुर कांग्रेस के जिला अध्यक्ष विजय खान ,कांग्रेस नेता जगदीश नारायण चौबे ,रामा शंकर पांडे, ओम प्रकाश उपाध्याय ,महेंद्र मिश्रा ,संजीव श्रीवास्तव ,अजय ओझा ,समेत काफी संख्या में शहर के गणमान्य लोग एवं मजदूर साथी गण शामिल हुए। सभी ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी। सूत्रों के अनुसार निधन के बाद मृतक का कोरोनावायरस जांच में निगेटिव पाया गया । जबकि मृतक का इलाज के समय काल में कोरोनावायरस पाज़िटिव था ।यह कुदरत की कैसी महिमा है। कोरोनावायरस से सभी लोग दहशत और अंकित हैं