झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

राज्यभर के थानेदारों के कामकाज की समीक्षा करेंगे डीजीपी, दस अगस्त को बैठक

कुणाल सारंगी

डीजीपी एमवी राव दस अगस्त को राज्य के सभी थानेदारों के कामकाज की समीक्षा करेंगे. बता दें कि समीक्षा में कमजोर पाए जाने पर थानेदारों को हटाया जाएगा. झारखंड पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसपी को आदेश दिया था कि वह अपने जिलों में

थानेदार के किए गए अनुसंधान कार्य की रिपोर्ट कार्ड तैयार करें.

रांची: झारखंड पुलिस मुख्यालय में डीजीपी एमवी राव दस अगस्त को राज्य के सभी थानेदारों के कामकाज की समीक्षा करेंगे. सभी जिलों के एसपी अपने-अपने थानेदारों के कामकाज का ब्यौरा लेकर पुलिस मुख्यालय पहुंचेंगे और डीजीपी के सामने पेश करेंगे.
झारखंड में बतौर थानेदार पोस्टेड थानेदारों के कामकाज की समीक्षा की जाएगी. समीक्षा में कमजोर पाए जाने पर थानेदारों को हटाया जाएगा. झारखंड पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसपी को आदेश दिया था कि वह अपने जिलों में थानेदार के किए गए अनुसंधान कार्य की रिपोर्ट कार्ड तैयार करें. सभी जिलों के एसपी ने जनवरी से लेकर जून 2020 तक थानेदारो के की गई अनुसंधान कार्य पर रिपोर्ट तैयार की है. इसमें थानेदारों ने कितने कांडों का खुद अनुसंधान किया है, इसकी रिपोर्ट तैयार की गई है. पुलिस मुख्यालय में दस अगस्त को डीजीपी की अध्यक्षता में थानेदारों के कामकाज की समीक्षा की जाएगी. समीक्षा के दौरान
झारखंड में बड़े नक्सल अभियान भाकपा माओवादियों के अलावा दूसरे नक्सली समूहों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान की भी समीक्षा की जाएगी.
वहीं, राज्य के सभी जिलों के एसपी को निर्देश दिया गया है कि वह अपने-अपने जिलों में सक्रिय बड़े नक्सलियों की गतिविधियों की जानकारी जुटाएं. पुलिस मुख्यालय ने आदेश दिया है कि राज्य में वर्तमान में सक्रिय नक्सलियों की गतिविधियों की विस्तृत रिपोर्ट के साथ वे 10 अगस्त को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से डीजीपी के सामने आएंगे. साथ ही माओवादियों के खिलाफ मार्च महीने के बाद मिली सफलता पर भी अलग से रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया गया है.