झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

पुलिसकर्मियों में बढ़ा कोरोना संक्रमण का खतरा, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के आधार पर नहीं किया जा रहा आइसोलेट

Ambuj Kumar Kunal Sarangi width Anshar Khan ADJ Kamlesh Jitendra Rais Rozvi Rishi Mishra Rina Gupta

रांची के पुलिसकर्मियों में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है. बता दें कि उन्हें कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के आधार पर आइसोलेट भी नहीं किया जा रहा है. बीते एक सप्ताह में रांची के बरियातू थाने से ही कुल 18 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं रांची: कोरोना वायरस संक्रमण काफी तेजी से पुलिसकर्मियों के बीच फैला है. राज्यभर में सिपाही से लेकर एसपी स्तर के अधिकारी कोरोना की चपेट में हैं. कई आईपीएस अधिकारियों पर भी संक्रमण का खतरा है. बावजूद इसके पुलिसकर्मियों के संक्रमित पाए जाने के बाद उनके कार्यक्षेत्र को कंटेनमेंट जोन नहीं बनाया जा रहा है और न ही संक्रमित पुलिसकर्मियों के कॉन्टैक्ट हिस्ट्री पर भी सही तरीके से काम हो रहा, जिसकी वजह से पुलिसकर्मियों के बीच संक्रमण काफी तेजी से फैला है. बीते एक सप्ताह में रांची के बरियातू थाने से ही कुल 18 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं.

बरियातू थाने में सबसे पहले मुंशी संक्रमित हुए थे. हाल के दिनों में एक गार्ड भी संक्रमित मिला, लेकिन थाने को कंटेनमेंट जोन घोषित कर सील नहीं किया गया. पुलिसकर्मी रोजमर्रा की तरह ही काम करते रहे. इसी दौरान पुलिसकर्मियों ने जांच कराई तो थानेदार समेत सात कर्मी संक्रमित मिले. इसके बावजूद थाने का काम चलता रहा. थाने में आमलोगों का आना-जाना भी बदस्तूर जारी रहा. शुक्रवार की देर रात रिपोर्ट आई तब भी कई पुलिसकर्मी संक्रमित मिले. खास बात यह थी कि पूर्व के कॉन्टैक्ट हिस्ट्री के आधार पर किसी भी पुलिसकर्मी को आइसोलेट नहीं किया गया था. सभी ड्यूटी पर थे. जांच के बाद अब तक कुल 18 पुलिसकर्मी संक्रमित हो चुके हैं. पुलसकर्मियों की
शिकायत है कि थाने में कॉन्टैक्ट हिस्ट्री के आधार पर काम होता तो कोरोना का संक्रमण इस कदर पुलिसकर्मियों में नहीं फैलता.
कोरोना वायरस संक्रमण रोकने को लेकर लापरवाही का आलम यह भी है कि कोरोना जांच संबंधी सैंपल दिए जाने के बाद भी पुलिसकर्मियों से काम लिया जा रहा है. शनिवार को भी एक डीएसपी स्तर के अधिकारी के बॉडीगार्ड और चालक कोरोना संक्रमित पाए गए, सभी ड्यूटी पर थे. वहीं, डेली मार्केट थाने के पुलिसकर्मियों में भी संक्रमण मिला है. सीआईडी मुख्यालय में भी जो पुलिसकर्मी संक्रमित मिले हैं, वह बीते एक सप्ताह से लगातार ड्यूटी में आ रहे थे. एक सप्ताह पहले सैंपल देने के बाद भी सभी लगातार काम पर आ रहे थे.
रांची में पुलिसकर्मियों के बीच कोरोना संक्रमण फैलने के बाद कूटे में पुलिसकर्मियों के लिए डेडिकेटेड आइसोलेशन सेंटर बनाया गया था, लेकिन यहां वर्तमान में 180 पुलिसकर्मी भर्ती हैं. ऐसे में पुलिसकर्मियों के लिए यहां भी बेड फुल हो चुका है. अब आगे संक्रमित पाए जाने वाले पुलिसकर्मियों को परेशानी होगी.

About Post Author