झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

प्रेमिका ने ही की थी युवक की हत्या

कुणाल सारंगी

इक्कीस जुलाई को सरायकेला के जंगल में मिले युवक के शव मामले का जमशेदपुर पुलिस ने खुलासा कर दिया है. युवक के शादी कर लेने से खफा प्रेमिका ने ही तीन अन्य लोगों के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी. जमशेदपुर पुलिस ने इस मामले की आरोपी प्रेमिका और उसके एक साथी को गिरफ्तार कर आदित्यपुर पुलिस को सौंप दिया है.

सरायकेला: इक्कीस जुलाई को जंगल में मिले युवक के शव मामले का जमशेदपुर पुलिस ने खुलासा कर दिया है. युवक के शादी कर लेने से खफा प्रेमिका ने ही तीन अन्य लोगों के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी. जमशेदपुर पुलिस ने इस मामले की आरोपी प्रेमिका और उसके तीनों साथी को गिरफ्तार कर आदित्यपुर पुलिस को सौंप दिया है
जमशेदपुर के मानगो थाना क्षेत्र अंतर्गत टीचर्स कॉलोनी एक का रहने वाले युवक तारक नाथ मंडल बीस जुलाई से लापता था. बाद में परिजनों ने मानगो थाना में युवक के गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज कराई. इधर इक्कीस जुलाई को युवक का शव, सरायकेला जिले के आदित्यपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत हथियाडीह जंगल से मिला. इस पर आदित्यपुर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया था.
इधर युवक के मोबाइल फोन कॉल डिटेल्स के जरिये जमशेदपुर पुलिस ने युवक की प्रेमिका किरण महतो और उसके तीन साथियों गणेश लोहार, करण लोहार और कमलेश प्रसाद को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस का कहना है कि युवक तारक नाथ मंडल की हत्या उसकी प्रेमिका किरण महतो ने अपने तीन सहयोगियों के साथ मिलकर की थी और शव को आदित्यपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत हथियाडीह के जंगल में फेंक दिया था. पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक पूछताछ के दौरान आरोपी प्रेमिका ने हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है.
आरोपी प्रेमिका किरण महतो ने पुलिस को बताया कि तारक नाथ मंडल ने उसे छोड़कर मार्च में पूर्वी सिंहभूम के घाटशिला की एक युवती से शादी कर ली थी. बावजूद इसके युवक अपनी प्रेमिका से बातचीत करता था और उसके घर आना जाना भी रखा था. इस दौरान बीस जुलाई को आरोपी प्रेमिका किरण महतो ने तारक नाथ मंडल को फोन करके बुलाया और अपने सहयोगियों के साथ उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी और शव को फेंक दिया.
पुलिस की गिरफ्त में आई आरोपी प्रेमिका ने पुलिस को बताया कि उसने अपने तीन सहयोगियों के साथ मिलकर तारक नाथ मंडल की गला घोंटकर हत्या कर दी थी. इसके एवज में आरोपी किरण महतो ने सहयोगी गणेश लोहार, करण लोहार और कमलेश प्रसाद को दस हजार रुपये दिए थे. जमशेदपुर पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा करते हुए हत्या के आरोपी महिला और उसके सभी साथियों को गिरफ्तार कर आदित्यपुर पुलिस को सौंप दिया है. आरोपी प्रेमिका निजी पॉलिटेक्निक कॉलेज में वार्डन है.