झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

पूर्वी सिंहभूम में बढ़ाई स्वाब जांच की गति, रोजाना 400 लोगों की हो रही कोरोना जांच

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर:झारखण्ड वाणी संवाददाता:पूर्वी सिंहभूम जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्वाब जांच की गति भी बढ़ा दी गई है. अब जिले में प्रतिदिन 400 लोगों की स्वाब जांच करने का लक्ष्य रखा गया है. जिला सर्विलांस कार्यालय के अधिकारी अभिषेक कुमार ने बताया कि नियम के अनुसार लोगों का स्वाब जांच के लिए देने के बाद बाहर नहीं घुमना चाहिए लेकिन लोग घुम रहे हैं. जो गलत है.

जमशेदपुर: पूर्वी सिंहभूम जिले में कोरोना जांच के लिए सैंपल लेने कि गति बढ़ा दी गई है. जिले में अब प्रतिदिन 400 लोगों का कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए जा रहे हैं. जिला सर्विलांस कार्यालय के अधिकारी ने बताया कि जांच रिपोर्ट आने तक क्वॉरेंटाइन नियमों का उल्लंघन करने के कारण संक्रमण फैल रहा है जो एक चिंता का विषय है.
जमशेदपुर में कोरोना संक्रमण फैलता जा रहा है लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है. जिनमे 15 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. जिला प्रशासन ने बढ़ते आंकड़े को देखते हुए कोरोना जांच की गति बढ़ा दी है. आपको बता दे कि कोरोना जांच के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर टीएमच अस्पताल, एमजीएम अस्पताल और टीबी अस्पताल में सैंपल लिया जाता है. इसके अलावा जिला सर्विलांस कार्यालय में कैदी गर्भवती महिला और ऑपरेशन वाले मरीजों का कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया जाता था.
बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अब जिला सर्विलांस कार्यालय में जांच केंद्र के जरिये बाहर से आये लोगों के अतिरिक्त जिले के बिभिन्न सरकारी कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों के सैंपल लिए जा रहे है. जिले में पूर्व में 100 से 200 तक का ही सैंपल लिया जाता रहा है. जिसका जांच रिपोर्ट 100 के लगभग था. अब जिले में प्रतिदिन 400 लोगों का सैंपल लिया जा रहा है. जिससे टीएमएच, एमजीएम और टीबी अस्पताल से मिलने वाला रिपोर्ट 100 से बढ़कर 200 हो गया है. जिला प्रशासन रिपोर्ट की गति और बढ़ाने में जुटी हुई है.
जिला सर्विलांस कार्यालय के अधिकारी अभिषेक कुमार ने बताया है कि जिले में प्रतिदिन 400 लोगों का सैंपल लिया जाता है, जिसमें 200 संक्रमितों का रिपोर्ट आ रहा है, लेकिन सबसे बड़ी परेशानी की बात है कि जिनका सैंपल लिया जा रहा है उन्हें रिपोर्ट आने तक नियम के अनुसार उन्हें क्वॉरेंटाइन नियम का पालन करते हुए घर में रहना है, लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है. लोग सैंपल देने के बाद घूम रहे हैं. जिस कारण संक्रमण फैल रहा है.