झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

पीएमसीएच में पुलिसकर्मियों और स्वास्थ्यकर्मियों के बीच मारपीट

कुणाल सारंगी

धनबाद पीएमसीएच में स्वास्थ्यकर्मियों और पुलिसकर्मियों के बीच मारपीट हो गई, जिसके बाद पीएमसीएच के डॉक्टर और स्टाफ हड़ताल पर चले गए और पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई

की मांग करने लगे. इस मामले की जानकारी मिलने के बाद डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर मौके पर पहुंचे. डीएसपी ने पीएमसीएच के अधीक्षक के साथ बैठक की और पूरे मामले की जांच की.

धनबाद: कोयलांचल के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच में बरवाअड्डा थाना पुलिस के पदाधिकारी और पीएमसीएच के स्टाफ के बीच मारपीट हो गई. मारपीट के बाद डॉक्टर और पुलिसकर्मियों ने जमकर हंगामा किया. मारपीट की घटना को लेकर पीएमसीएच के डॉक्टर और स्टाफ हड़ताल पर भी चले गए. इससे कोरोना की जांच का कार्य बाधित हो गया.
पीएमसीएच में कोरोना जांच ठप होने की जानकारी मिलने के बाद पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे. फिलहाल इस मामले की जांच में पीएमसीएच अधीक्षक और धनबाद डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर जुटे हुए हैं. सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला गया, जिसमें मारपीट की घटना नजर आ रही है.
आपको बता दें कि कोरोना जांच कराने के लिए अपना सैंपल देने के लिए बरवाथाने से पांच अधिकारी पीएमसीएच धनबाद पहुंचे थे और वह लाइन में लगे हुए थे. कोरोना जांच करवाने वाले अन्य लोग भी लाइन में थे, जिस कारण जांच में देरी हो गई. इसी बात को लेकर वहां पर मौजूद स्वास्थ्यकर्मी और पुलिसकर्मी में तू-तू मैं-मैं शुरू हो गई और फिर देखते ही देखते मारपीट की नौबत आ गई. आरोप है कि हंगामे की सूचना के बाद वहां पर पहुंचे एक डॉक्टर के साथ भी पुलिसकर्मियों ने दुर्व्यवहार किया. पूरे मामले की सूचना के बाद पूरे पीएमसीएच में अफरा-तफरी मच गई, जिसके बाद सभी स्वास्थ्यकर्मियों ने कोरोना जांच को रोक दिया और वह उचित जांच की मांग करने लगे. उन्होंने कहा कि जब तक पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई नहीं की जाएगी वह कोई काम नहीं करेंगे.
हंगामे की सूचना के बाद पीएमसीएच अधीक्षक अरुण कुमार चौधरी और धनबाद डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर के नेतृत्व में बैठक हुई, जिसके बाद सीसीटीवी फुटेज को चेक किया गया. सीसीटीवी फुटेज के जांच में भी मारपीट की घटना रिकॉर्ड हुई है और इस पूरे मामले के बाद पीएमसीएच अधीक्षक अरुण कुमार चौधरी ने पत्रकारों को बताया कि पुलिस को आवेदन दे दिया गया है और पुलिसकर्मियों ने भी कार्रवाई का भरोसा दिया है. वहीं इस पूरे मामले में जांच के लिए पहुंचे डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर मुकेश कुमार ने कहा कि वरीय पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर जांच के लिए पहुंचे हैं, सारे मामले की जांच की गई है और वरीय पदाधिकारी को इससे अवगत कराया
जाएगा. वह पत्रकारों के सवालों का जवाब देने से बचते रहे ।