झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

पारा शिक्षकों का मानदेय जारी, 2 महीने का मिलेगा वेतन

झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से राज्य के 59,583 पारा शिक्षकों के बकाया मानदेय जारी कर दिया गया है. दो महीने के मानदेय मद में 150 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं.

रांची: झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से पारा शिक्षकों का मानदेय जारी किया गया है. राज्य के 59,583 पारा शिक्षकों को जून और जुलाई का बकाया मानदेय जारी किया गया है. अगस्त महीने का मानदेय जल्द ही जारी किया जाएगा. इसे लेकर शिक्षा पदाधिकारियों से डिटेल मांगा गया है.
पारा शिक्षकों ने मानदेय भुगतान करने को लेकर राज्य सरकार से आग्रह किया था. पारा शिक्षकों का कहना था कि कोरोना महामारी के कारण पारा शिक्षकों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. इसके बावजूद पारा शिक्षक लगातार सेवा दे रहे थे. विभिन्न काम में भी पारा शिक्षकों को लगाया गया था और उनका मानदेय भी नहीं मिल रहा था. हालांकि, झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से राज्य के 59,583 पारा शिक्षकों के बकाया मानदेय जारी कर दिया गया है. दो महीने के मानदेय मद में 150 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं. अगस्त महीने का मानदेय भी जल्द दिया जाएगा.
इधर, झारखंड एकेडमिक काउंसिल की ओर से ली जाने वाली मध्यमा, मदरसा और इंटरमीडिएट वोकेशनल की परीक्षा कोरोना महामारी के कारण नहीं हो पा रही है. जैक अध्यक्ष से जब इस मामले को लेकर जानकारी हासिल की गई तो उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ओर से आदेश मिलते ही इन परीक्षाओं को कंडक्ट किया जाएगा. अब तक मध्यमा, मदरसा, इंटरमीडिएट वोकेशनल की परीक्षाएं आयोजित नहीं की जा सकी हैं. परीक्षार्थी परीक्षा के इंतजार में हैं. लगभग 20,000 परीक्षार्थी मदरसा बोर्ड के हैं. मध्यमा में परीक्षार्थियों की संख्या 7000 है. इसके अलावे वोकेशनल कोर्स में भी परीक्षार्थियों की संख्या एक हजार के करीब है. इन परीक्षार्थियों का परीक्षा कब लिया जाएगा अब तक जैक की ओर से स्पष्ट नहीं किया जा सका है.