झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

निरसा पीएचसी के एक डॉक्टर को शो-कॉज नोटिस, डीसी ने चौबीस घंटे के अंदर मांगा जवाब

कुणाल सारंगी

धनबाद के निरसा पीएचसी के डॉ एस के गुप्ता को उपायुक्त ने शो-कॉज नोटिस भेजा है. उपायुक्त ने कहा है कि कोलकाता से लौटने के बाद डॉ गुप्ता और उनके परिवार के सदस्यों को कोविड-19 के निर्देशानुसार स्वाब जांच कराते हुए इंस्टीट्यूशनल
क्वॉरेंटाइन या आइसोलेशन में रहना चाहिए था, लेकिन एक डॉक्टर होने के बावजूद उन्होंने ऐसा नहीं किया. डीसी ने चौबीस घंटे के अंदर डॉक्टर से स्प्ष्टीकरण मांगा है.

धनबाद: जिले में निरसा पीएचसी के डॉ एस के गुप्ता को उपायुक्त ने शो-कॉज जारी किया है. उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने उन्हें 24 घंटे के अंदर स्पष्टीकरण देने का आदेश दिया है. उपायुक्त ने कहा कि डॉक्टर एस के गुप्ता 12 जून को बिना आवश्यक स्वीकृति लिए कोलकाता चले गए थे. जबकि स्वास्थ्य विभाग का स्पष्ट आदेश है कि सभी चिकित्सा पदाधिकारी और
स्वास्थ्य कर्मियों का सभी प्रकार का अवकाश रद्द रहेगा. अति आवश्यक परिस्थिति में भी उपायुक्त से स्वीकृति प्राप्त कर ही अवकाश के लिए प्रस्थान किया जा सकता है.
उपायुक्त ने कहा है कि कोलकाता से लौटने के बाद डॉ गुप्ता और उनके परिवार के सदस्यों को कोविड-19 के निर्देशानुसार स्वाब जांच कराते हुए इंस्टीट्यूशनल क्वॉरेंटाइन या आइसोलेशन में रहना चाहिए था, लेकिन एक डॉक्टर होने के बावजूद उन्होंने ऐसा नहीं किया, जो आईसीएमआर की गाइडलाइन का उल्लंघन भी है. उनके इस गैर जिम्मेदाराना व्यवहार के कारण उनके साथ- साथ बीस लोगों में कोविड-19 का संक्रमण फैल गया.
धनबाद के उपायुक्त ने डॉक्टर गुप्ता को चौबीस घंटे के अंदर स्पष्टीकरण देने का आदेश दिया है. स्पष्टीकरण नहीं देने पर डॉ गुप्ता पर एपिडेमिक डिजीज एक्ट 1897 और झारखंड स्टेट एपिडेमिक डिजीज (कोविड-19) रेगुलेशन 2020 के तहत विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी.