झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

नगर निगम में अगजनी मामला को लेकर जांच

कुणाल सारंगी

हजारीबाग नगर निगम कार्यालय में आगजनी की घटना को लेकर पुलिस जांच कर रही है. शुरुआती दौर में अंदेशा लगाया गया था कि किसी व्यक्ति के द्वारा घटना को अंजाम दिया गया है. ऐसे में सीसीटीवी फुटेज भी पदाधिकारियों के द्वारा खंगाला गया है. एक बार फिर पुलिस पदाधिकारी घटनास्थल पहुंचकर जांच कर रहे हैं.

हजारीबाग: नगर निगम कार्यालय में आगजनी की घटना को लेकर जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है. ऐसे में हजारीबाग सदर एसडीपीओ कमल किशोर, कोर्रा थाना प्रभारी समेत कई पुलिसकर्मी घटनास्थल पर पहुंचकर जांच कर रहे हैं.
31 जुलाई को नगर निगम में भीषण आग लगी थी, जिसमें सभाकक्ष पूर्ण रूप से जलकर खाक हो गया था. इस सभाकक्ष का निर्माण महज छह महीने पहले हुआ था. लगभग तीस लाख रुपए की लागत से सभाकक्ष बनाया गया था. ऐसे में सभाकक्ष के आग लगने की घटना की जांच पुलिस कर रही है. शुरुआती दौर में अंदेशा लगाया गया था कि किसी व्यक्ति के द्वारा घटना को अंजाम दिया गया है. ऐसे में सीसीटीवी फुटेज भी पदाधिकारियों के द्वारा खंगाला गया है. एक बार फिर पुलिस पदाधिकारी घटनास्थल पहुंचकर जांच कर रहे हैं. जांच करने आए पदाधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक दौर में सीसीटीवी फुटेज खंगालने के दौरान किसी भी व्यक्ति के द्वारा घटना को अंजाम देने की बात सामने नहीं आई है. ऐसा प्रतीत हुआ है कि यह घटना है. फिर भी हम लोग पुनः जांच करने के लिए आए हैं ताकि कहीं चूक न रह जाए.