झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

मोदी: कोरोना काल में भी भारत में 20 अरब डॉलर का विदेशी निवेश

कुणाल सारंगी

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को ‘इंडिया आइडियाज़ समिट’ को संबोधित करते हुए कहा कि ‘आज भारत के प्रति पूरी दुनिया आशावादी है और ऐसा इसलिए है क्योंकि भारत खुलेपन, अवसरों और प्रौद्योगिकियों का एक आदर्श मिश्रण प्रदान करता है.’

ऑनलाइन संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा, “सब इस बात से सहमत हैं कि विश्व को बेहतर भविष्य की आवश्यकता है. हम सभी को सामूहिक रूप से भविष्य को आकार देना है. मेरा दृढ़ विश्वास है कि भविष्य के लिए हमारा दृष्टिकोण मुख्य रूप से अधिक मानव-केंद्रित होना चाहिए. साथ ही ग्रोथ के एजेंडा में ग़रीबों और वंचितों के लिए जगह होनी चाहिए.”

पीएम मोदी ने कहा, “भारत स्वास्थ्य सेवाओं में निवेश करने के लिए अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को आमंत्रित करता है. भारत में हेल्थ केयर सेक्टर हर साल 22 प्रतिशत से भी अधिक तेज़ी से बढ़ रहा है. हमारी कंपनियाँ चिकित्सा-प्रौद्योगिकी, टेलीमेडिसिन और डाइग्नोसिस में भी प्रगति कर रही हैं.”

प्रधानमंत्री ने निवेशकों को रक्षा, नागरिक उड्डयन और ऊर्जी क्षेत्र में भी निवेश करने के लिए आमंत्रित किया. उन्होंने कहा कि ‘हम डिफ़ेंस क्षेत्र में निवेश के लिए एफ़डीआई कैप को 74% तक बढ़ा रहे हैं.’

पीएम मोदी ने कहा कि “2019-20 में भारत में एफ़डीआई प्रवाह 74 अरब अमरीकी डॉलर था. यह पिछले वर्ष से 20% ज़्यादा रहा. अप्रैल और जुलाई के बीच भारत ने 20 अरब अमरीकी डॉलर से अधिक का विदेशी निवेश आकर्षित किया है.”